न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत मिला गैस चूल्हा फटा, बाल-बाल बची गृहिणी

घटना के बाद से सोनी के परिवार के साथ ही आसपास के लोग भी काफी डरे हुए हैं

430

Dhanbad : झरिया के जोड़ापोखर थाना अंतर्गत बरारी में अचानक गैस चूल्हा फट गया. दरअसल जिले में कई परिवारों को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के गैस चूल्हा बांटा गया था. उन्हीं परिवारों में से एक परिवार झरिया का भी है. जो आज बाल-बाल बच गये. इस घटना के बाद से सोनी के परिवार के साथ ही आसपास के लोग भी काफी डरे हुए हैं. साथ ही उज्जवला योजना के तहत मिले गैस को इस्तेमाल करने से डर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – लातेहारः प्रधानमंत्री आवास योजना में मची है लूट, कहीं बिना निर्माण के, तो कहीं अधूरे निर्माण पर ही…

किस्मत अच्छी थी कि बच गई – सोनी

उज्जवला योजना के तहत मिले गैस चूल्हे पर गृहिणी सोनी हर दिन की तरह खाना बना रही थी. सोनी के बच्चे भी रसोई के बाहर ही हर दिन की तरह खेल रहे थे. लेकिन अचानक कुछ ही देर बाद सोनी के पति का फोन आया और वह बच्चे को लेकर फोन रिसीव करने दूसरे कमरे में चली गयी.

ब्लास्ट के बाद गैस चूल्हा

फोन पर सोनी कुछ देर तक बात करती रही. इसी बीच रसोई में जोरदार धमाका हुआ. धमाका इतना जोरदार था कि घर को लोग बाहर की ओर भागे और सड़क पर आ गये. इसके अलावा आसपास के लोगों में भी हलचल तेज हो गई. सड़क पर धमाके के बाद बहुत भीड़ लग गई. कुछ देर बाद पड़ोस के लोगों ने सोनी के रसोई में जाकर देखा तो सबके होंश उड़ गये. रसोई में गैस चूल्हा फटा हुआ था और रसोई में सारा सामान बिखरा पड़ा था.

इसे भी पढ़ें – हजारीबाग सदर अस्पताल की सीएस डॉ ललिता वर्मा के पति का ऑडियो हुआ वायरल, कहा – विजिलेंस-तिजिलेंस कुछ…

घटना पर परिजनों ने जताया रोष

इस घटना पर सोनी ने कहा कि किस्मत अच्छी थी कि वक्त रहते पति का फोन आ गया और उसे उठाने गयी तो बड़ा हादसा टल गया. वहीं सोनी के परिजनों की माने तो सरकार गरीबों के लिए उज्ज्वला योजना लायी, जिससे गरीब के घर में गैस चूल्हा जल सके और औरतों को धुएं से दुष्प्रभाव से बचाया जा सके. लेकिन इस योजना की आड़ में गैस डिस्ट्रीब्यूटर गैस के साथ जो चूल्हा दे रहे हैं वो काफी कमजोर किस्म का है. जिससे ये हादसा हुआ. इस हादसे के बाद परिजन काफी रोष में थे और उन्होंने कहा कि अगर जल्द सरकार ऐसे डिस्ट्रीब्यूटरों पर लगाम नहीं लगायेगी. तो और भी बड़े हादसे हो सकते हैं और इसकी जवाबदेही सरकार की होगी.

इसे भी पढ़ें – पलामू: पांडू-हुसैनाबाद बार्डर पर भिड़े पुलिस-नक्सली, दो नक्सली हिरासत में

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: