JharkhandPalamu

गढ़वा: भूमि विवाद में युवक की हत्या, पांच लोग घायल, दो आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

palamu/Garhwa : पलामू प्रमंडल के गढ़वा में भूमि विवाद के कारण एक युवक की हत्या कर दी गयी. घटना के बाद पुलिस ने लोगों को हिरासत में लिया है. घटना के बाद पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है. इस घटना में पांच लोग जख्मी हुए हैं. सभी को बेहतर इलाज के लिए गढ़वा सदर अस्पताल रेफर किया गया है. पुलिस मामले की छानबीन में जुटी हुई है.

जानकारी के अनुसार गढ़वा जिले के रमना थाना क्षेत्र के बहियार खुर्द में भूमि विवाद में मारपीट कर सुदर्शन यादव की हत्या कर दी गयी. जबकि पांच लोग जख्मी हैं. घटना बीती रात की है. घटना का कारण पैतृक भूमि विवाद बताया जा रहा है. सूत्रों के मुताबिक जगदीश यादव का अपने चचेरे भाई अयोध्या यादव के बीच पैतृक भूमि में हिस्सेदारी को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा था.

इसे भी पढ़ेंः रांची मेयर आशा लकड़ा न्यूज विंग के संवाददाता को खबर हटाने की दे रहीं धमकी, 24 घंटे में किया छह बार फोन

घटना की सूचना मिलने पर पहुंचे थाना प्रभारी लालबिहारी प्रसाद ने इस मामले में दो लोगों को हिरासत में लिया है. हिरासत में लिए गए लोगों में बहियार खुर्द निवासी शंभू यादव व नंदलाल यादव शामिल हैं. पुलिस ने मृतक जगदीश यादव के पिता के बयान पर एफआईआर दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है. शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल गढ़वा भेज दिया है.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक मारपीट में घायल लोगों में उपेन्द्र यादव, विनय यादव, जितेन्द्र यादव, मनु यादव, दिलीप यादव के नाम शामिल हैं. सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक इलाज के बाद सभी को सदर अस्पताल गढ़वा रेफर कर दिया गया है.

जानकारी के अनुसार इस परिवार के पास कुल पुश्तैनी भूमि 27. 26 एकड़ है, जिसमें सात हिस्सेदार आते हैं. पूर्वजों के कागजात या बंटवारा के आधार पर कब्जा के लेकर हिस्सेदारों के बीच तनाव व झगड़ा झंझट होते रहा है. विवाद समाप्त करने के लिए कई बार पक्षों के द्वारा प्रयास भी किया गया, परन्तु भूमि विवाद समाप्त नहीं हुआ.

इसे भी पढ़ेंः सितंबर 2020 से शुरू होगा नया शैक्षणिक सत्र, लॉकडाउन अवधि में सौ फीसदी माना जायेगा अटेंडेंस

मृतक के पिता जगदीश यादव के द्वारा थाना में दिए गए आवेदन में कहा गया है कि उसके चचेरे भाई अयोध्या यादव एवं अन्य पटीदार गोतिया से पुश्तैनी जमीन को लेकर पूर्व से ही विवाद चला आ रहा है. पूर्व में कई बार जमीनी विवाद को लेकर गाली गलौज एवं झगड़ा झंझट हो चुका था.

विवादित जमीन पर नगर उंटारी अनुमंडल में 144 का मुकदमा चला था. जिसमें किसी के पक्ष में फैसला नहीं हुआ था, बावजूद 29 अप्रैल को रात्रि में लाठी, डंडा, फरसा, टांगी, गड़ासा एवं तलवार लेकर बा जबरजस्ती जमीन को अपने कब्जे के लिए अयोध्या यादव, सुरेंद्र यादव, विवेक यादव, राकेश यादव, उदय यादव, शम्भू यादव, रामप्रसाद यादव, रामकृष्णा यादव व नन्दलाल यादव ने हमला किया.

हमलोग ज्यों ही मना किया तो हमारे घर पर हमला कर दिया और मारपीट कर सुदर्शन यादव, उपेन्द्र यादव, विनय यादव, जितेंद्र यादव, दिलीप यादव व मनु यादव को जख्मी कर दिये जिसमें उसके बेटे सुदर्शन यादव (35) की मौत हो गई.

इसे भी पढ़ेंः प्रवासी मजदूरों व छात्रों को वापस लाने का मुद्दा : केंद्र ने साधनहीन राज्यों को जूझने के लिए अकेला छोड़ दिया है

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button