न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गढ़वा: घरेलू विवाद में महिला की हत्या, पति समेत 3 तीन गिरफ्तार  

97

Palamu/Garhwa: पलामू प्रमंडल के गढ़वा जिला अंतर्गत मेराल थाना क्षेत्र के पढूआ गांव में एक महिला की पीट-पीटकर हत्या कर दी गयी. मृतका के मायके वालों ने पति, सास-ससुर एवं देवरानी पर हत्या का आरोप लगाया है. पुलिस ने मृतका के पति, ससुर एवं सास को गिरफ्तार कर लिया है.

इसे भी पढ़ें –   महिलाओं के खिलाफ बढ़ते अपराध पर बोले रविशंकर प्रसाद ने कहा- मामलों के तीव्र निपटारे की निगरानी जरूरी

Mayfair 2-1-2020

दरवाजा तोड़ने को लेकर हुआ विवाद

मृतका के मायकेवालों के अनुसार, सीमा देवी (30 वर्ष) आज घर के बंटवारे के अनुसार अपने हिस्से के घर में दरवाजे के लिए जगह बनाने लगी. उसी समय सास सुमित्रा देवी, ससुर गुलजारी साह के साथ कहासुनी हुई. इतने में उसका पति अखिलेश साह पत्नी के साथ मारपीट करने लगा. इसी का फायदा उठाते हुए सास-ससुर और देवरानी ने मिलकर उसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी.

हत्या के बाद पूर्व मुखिया के घर में छिप गये थे आरोपी 

घटना को अंजाम देने के बाद सभी आरोपी पढुआ के पूर्व मुखिया अवधकिशोर देव के घर जाकर छुप गये और पूर्व मुखिया को बहू के मौत की बात बतायी. पूर्व मुखिया अवध किशोर देव ने घटना की जानकारी मेराल थाना प्रभारी रामेश्वर उपाध्याय को फोन पर दी.

इसे भी पढ़ें –   लघु कुटीर बोर्ड ने मार्च 2018 से कर्मियों को नहीं दिया ट्रैवल एक्सपेंस, CEO ने कहा- चल रही कार्रवाई, जल्द मिलेगा बकाया

Vision House 17/01/2020

बच्चों की सूचना पर हुई घटना की जानकारी

इधर  मृतक के 7 वर्षीय बेटे ने ही मौत के पीछे का राज खोला. बच्चे ने आसपास के लोगों को मां को मारने की बात का खुलासा किया. बच्चे की बात सुनकर जब लोगों ने उसके घर जाकर देखा तो सीमा देवी मृत पड़ी हुई थी. लोगों ने इसकी सूचना गांव के अन्य लोगों को दी. देखते ही देखते गांव के सैकड़ों लोग मृतक के घर पहुंच गए और उग्र हो गये.

ऑन स्पॉट फैसला देने पर आमादा थी भीड़

वहीं इस घटना से आक्रोशित लोग आरोपी को ढूंढते हुए पूर्व मुखिया के घर पहुंच गये और उन्हें घर से बाहर निकालने की बात कहने लगे. पूर्व मुखिया द्वारा लोगों को बताया गया कि थाना प्रभारी को सूचना कर दी गई है, लेकिन गुस्साए लोगों ने पूर्व मुखिया की एक न सुनी.

आरोपी पति और सास-ससुर को लेकर पुलिस जैसे ही घर से बाहर निकली, लोगों ने उग्र होकर उन्हें पुलिस कस्टडी से छुड़ाने की कोशिश की. सभी ऑन द स्पॉट फैसला देने पर अड़े थे. इसे लेकर पुलिस एवं पब्लिक में करीब 2 घंटे तक नोकझोंक होती रही.

इसे भी पढ़ें –   #unnaokibeti: रेप पीड़िता के लिए इंसाफ मांग रही महिला ने अपनी 6 साल की बेटी पर डाला पेट्रोल

संभावित मॉब लिंचिंग को पुलिस ने टाला 

पुलिस किसी तरह आरोपियों को लेकर वहां से निकली और संभावित मॉब लिंचिंग की घटना को टाल दिया. बाद में डीएसपी दिलीप खलखो, इंस्पेक्टर लक्ष्मीकांत ने घटनास्थल पर पहुंचकर लोगों को समझा-बुझाकर कार्रवाई करने का भरोसा दिलाकर मामले को शांत कराया.

क्या है ग्रामीणों का आरोप

ग्रामीणों का आरोप है कि तीन दिन पहले, जब हत्या के आरोपी को गांव वालों ने पत्नी के साथ मारपीट करने की शिकायत की थी. तब पूर्व मुखिया अवध किशोर देव एवं पूर्व बीडीसी दिनेश प्रसाद गुप्ता थाना पहुंचे और बॉन्ड के आधार पर मारपीट नहीं करने के जिम्मेवारी लेते हुए थाना से आरोपी को छुड़ा लिया था. लेकिन शनिवार को इन लोगों ने उस महिला की पीट-पीटकर हत्या कर डाली.

इधर, इस संबंध में पूर्व मुखिया अवध किशोर देव ने बताया कि सीमा देवी के घर का झगड़ा समाप्त करने के उद्देश्य से घर का बंटवारा दो दिन पूर्व किया गया था.  लेकिन आज फिर से आपस में  फिर से झगड़ा हुआ और परिवार वालों ने ही महिला की हत्या कर दी.

इसे भी पढ़ें –   रघुवर दास के बढ़ते कद के बीच कंपनियों का बंद होना क्या इत्तेफाक है?

Ranchi Police 11/1/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like