GarhwaJharkhandLead News

गढ़वा: महिला की बलि मामले में बहन-बहनोई, पति समेत सात गिरफ्तार

घर बनाने में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए दी गई महिला की बलि

Garhwa: श्री बंशीधर नगर (नगर उंटारी) थाना क्षेत्र में तंत्र मंत्र के चक्कर में महिला की बलि देने की घटना को लेकर पुलिस ने कार्रवाई की. पुलिस ने मामले का खुलासा करते हुए सोमवार को बताया कि महिला की हत्या घर बनाने में आ रही बाधाओं को दूर करने के लिए की गई थी. पुलिस ने इस मामले में दो महिला समेत सात आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में गढ़वा भेज दिया है.

एसडीपीओ प्रमोद कुमार केसरी ने बताया कि नगर ऊंटारी थाना क्षेत्र के जंगीपुर गांव में गत 21 जून को झाड़ फूंक के क्रम में मुन्ना उरांव की पत्नी गुड़िया देवी की हत्या कर दिये जाने की गुप्त सूचना मिली थी. साथ ही साक्ष्य मिटाने को लेकर शव को रंका थाना क्षेत्र के खुरा गांव में स्थित श्मशान घाट पर ले जाकर जला दिया गया था.

इसे भी पढ़ें:मांडर उपचुनावः शिल्पी नेहा तिर्की के निर्वाचन की अधिसूचना जारी

Catalyst IAS
ram janam hospital

थाना प्रभारी योगेंद्र कुमार के द्वारा मामले की जांच की गई तथा उनके स्व लिखित बयान पर महिला के पति मुन्ना उरांव, बहन ललिता देवी, बहनोई दिनेश उरांव समेत एक दर्जन के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया.

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

एसडीपीओ ने बताया कि एसपी के निर्देश पर हत्या मामले की जांच एवं हत्या में शामिल अपराधियों की त्वरित गिरफ्तारी के लिये उनके नेतृत्व में टीम गठित की गई. जांच के क्रम में सात लोगों को नगर ऊंटारी, मेराल एवं रंका थाना क्षेत्र के विभिन्न स्थानों से गिरफ्तार किया गया. साथ ही मृतका के जले हुए अवशेष भाग (हड्डी) को जब्त किया गया.

इसे भी पढ़ें:दुल्हन की तलाश कर रहे युवक ने शहर में लगा दी पोस्टर, 5 वर्षों से कर रहा है ‘Miss Right’ की तलाश

गिरफ्तार अपराधियों में मृत गुड़िया देवी की बहन ललिता देवी, दिनेश उरांव, सुरजी कुंवर, कुंदन उरांव, सूरज उरांव, पति मुन्ना उरांव एवं रामशरण उरांव शामिल हैं. जबकि शेष अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है. उन्होंने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों को न्यायिक हिरासत में गढ़वा भेज दिया गया है.

प्रेसवार्ता में एसडीपीओ के अलावे पुलिस इंस्पेक्टर राजेश कुमार, थाना प्रभारी योगेंद्र कुमार, पुअनि विक्की कुमार, सोहन कुमार साहू, सअनि श्रीकांत पांडेय आदि मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें:दस साल संविदा पर सेवा लेने के बाद एमआइएस कंसल्टेंट राजीव कुमार की सेवा की गयी समाप्त

Related Articles

Back to top button