GarhwaJharkhand

Garhwa: दो हजार रुपये घूस लेते राजस्व कर्मचारी गिरफ्तार

  • इस साल का दूसरा ट्रैप

Palamu / Garhwa: एंटी करप्शन ब्यूरो की ओर से भ्रष्ट पदाधिकारियों के खिलाफ की जा रही कार्रवाई के तहत मंगलवार को एक राजस्व कर्मचारी को घूस लेते गिरफ्तार किया गया.

गढ़वा के मेराल प्रखंड के हल्का नंबर 3 ओखड़गढ़ा के राजस्व कर्मचारी शंकर पांडेय जमीन नामांतरण के लिए दो हजार रुपये घूस लेते पकड़ा गया. राजस्व कर्मचारी को गिरफ्तार कर मेदिनीनगर लाया गया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया जायेगा.

पलामू एसीबी के पुलिस अधीक्षक ने बताया कि गढ़वा के मेराल प्रखंडन्तर्गत अकलवानी के यशवंत कुमार ने आवेदन देकर बताया गया था कि उसकी बहन गढ़वा के नवादा-विशुनपुरा निवासी अनिता देवी (पति सुशील कुमार दुबे) ने जमीन के नामांतरण के लिए मेराल अंचल में आवेदन दिया था.

आवेदन वर्ष 2019 में ही दिया था. इस संबंध में अंचल कार्यालय से नोटिस निर्गत किया गया था. विभिन्न कागजात अंचल अधिकारी एवं कर्मचारी को प्रस्तुत किया गया था. जमीन दो तरह की थी. मौजा अकलवानी, थाना नं. 291, खाता नं. 07, प्लॉट 1003 एवं 1004 में रकबा 5.25 एवं एक में 1.25 डिसमिल.

इसे भी पढ़ें – बकोरिया कांड: CBI की टीम पहुंची पलामू, मुठभेड़ में शामिल अधिकारियों से हो सकती है पूछताछ

रिश्वत लेने के लिए काम में टाल मटोल कर रहा था कर्मचारी

कागजी प्रक्रिया पूरी करने के बावजूद कई बार आग्रह करने पर भी राजस्व कर्मचारी यह कहते हुए मामले को टाल रखा था कि यह काफी पेचीदा है और इसके लिए पैसा देने होंगे. आवेदक घूस देना नहीं चाहता था. लगातार परेशान किये जाने पर आवेदक द्वारा इसकी शिकायत एसीबी की मेदिनीनगर इकाई में की गयी.

शिकायत को सही पाकर टीम बनायी गयी और आज एसीबी के डीएसपी रामपूजन सिंह के नेतृत्व में कार्रवाई करते हुए राजस्व कर्मचारी को गढ़वा टाउन हॉल के बगल में स्थित निजी आवास से गिरफ्तार किया गया.

आरोपी राजस्व कर्मचारी शंकर पांडेय पलामू जिले के विश्रामपुर प्रखंड के लालगढ़ के निवासी हैं. विदित हो कि राजस्व कर्मचारी की गिरफ्तारी एसीबी पलामू का दूसरा ट्रैप केस है.

इसे भी पढ़ें – मीडिया के सामने खुलकर बोले प्रशांत किशोर, हमें पिछलग्गू नहीं बल्कि एक सशक्त नेता चाहिए

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: