GarhwaJharkhand

गढ़वा: नक्सली बन फैलायी दहशत, फिर नेता बनकर खुलवाया दरवाजा और की लूटपाट, एक गिरफ्तार

विज्ञापन

Palamu/Garhwa : पलामू प्रमंडल के गढ़वा जिला अंतर्गत डंडई थाना क्षेत्र में नक्सली बताकर डकैती की घटना को अंजाम दिया गया. 10 की संख्या में आये डकैतों ने खुद को नक्सली बताया और बालेखांड़ गांव में घटना को अंजाम दिया. मंगलवार की रात बंदूक की नोक पर कृष्णा सोनी नामक व्यक्ति के घर से करीब डेढ़ लाख के जेवरात व एक लाख 20 हजार नकद लूट कर भाग निकले.

हालांकि भागने के क्रम में ही ग्रामीणों ने गिरोह के एक सदस्य को दौड़ा कर पकड़ लिया. उसके पास से एक पिस्तौल एवं मोबाइल बरामद किया गया है. वह नगर उंटारी के जमुई गांव का रहने वाला है. पुलिस उसे हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. थाना प्रभारी वीरेंद्र हांसदा ने बताया कि एक डकैत को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है. बहुत जल्द ही चोरों के गिरोह का खुलासा किया जायेगा.

इसे भी पढ़ेंः हेमंत सोरेन ने कहा, रघुवर दास के अच्छे कामों को आगे ले जाऊंगा, सोनिया गांधी से मिलने दिल्ली रवाना

advt

नक्सली बनकर और बंदूक दिखाकर डराया

बताया जाता है कि डकैतों ने उक्त गांव में शाम के 8 बजे एक टेम्पो पर सवार होकर साधारण वेशभूषा में पहुंचे. पास की नदी के किनारे जाकर नक्सली का ड्रेस व हथियार लेकर गांव में घुस आए. ग्रामीणों को नक्सली बताकर सभी लोगों को अपने अपने घरो में घुसने को कहा. फिर कृष्णा सोनी नामक व्यक्ति के घर घुसकर डकैती की.

ग्रामीणों ने बताया कि नक्सली ड्रेस व हथियार की वजह से हम लोग समझें कि गांव में कोई नक्सली संगठन का आगमन हो गया. उसके भय से हमलोग अपने-अपने घरों में चुपचाप चले गये. कुछ ही मिनटों में शोर मचाने की आवाज आते ही, हमलोग चोरों को पीछा करना शुरू किया.

इसे भी पढ़ेंः विधानसभा चुनाव में बीजेपी की हार: कहीं 11 सासंदों की साख पर संकट न खड़ा कर दे

इस तरह पकड़ा गया अपराधी

दौड़ते-दौड़ते एक डकैत को धर दबोचा, बाकी सब जंगली एरिया का फायदा उठाते हुए भाग निकले. भागने के क्रम में एक और चोर का बंदूक गिरा हुआ मिला. ग्रामीणों ने पकडे हुए चोर को रातभर बंद कमरे में रखा. युवक ने बताया कि नगर उंटारी से मेराल के रास्ते बालेखांड गांव में रात के करीब 8.30 बजे पहुंचा था. पोशाक और हथियार एक बोरी में करके टेम्पो में लाए थे.

adv

गिरोह के किसी एक आदमी का यहां मौसी का घर है. उसी के जरिए यहां पहुंचे थे. उसने बताया कि 10 में से 2 लोग महिला डकैत थे. उसके गैंग के लोगों में से एक ने फोन कर मुझे चोरी में शामिल किया था. मुझे गार्ड के रूप में बाहर खड़ा कर दिया और सब लोग अंदर घुसकर डकैत की और भाग निकले.

भुक्तभोगी ने बताया कि नेता हैं कहकर दरवाजा खटखटाकर खुलवाया. दरवाजा खुलते ही कनपटी में बंदूक की नोक सटा दी. वही घर के अन्य लोगों को भी आंगन में दो-तीन लोग कब्जे में रखा है और बक्सा-अलमारी की चाबी मांग कर लगभग डेढ़ लाख रुपए के जेवरात व नगद 1 लाख 20 हजार रुपए लेकर फरार हो गये.

इसे भी पढ़ेंः #TelecomIndustry पर संकट का साया, 1.47 लाख करोड़ बकाया, वोडाफोन-आइडिया की सरकार से मदद की गुहार

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button