GarhwaJharkhandLead News

गढ़वा : मंत्री मिथिलेश ने किया दुबे मरहटिया पैक्स का उद्घाटन, कहा-धान खरीद के 2 दिन के अंदर पहुंच जायेगी किसानों के खाते में एमएसपी

Garhwa : मिथिलेश कुमार ठाकुर ने तिवारी मरहटिया में दुबे मरहटिया पैक्स का उद्घाटन किया. मौके पर लोगों को संबोधित करते हुये मंत्री मिथिलेश कुमार ठाकुर ने कहा कि विगत वर्ष एफसीआई के माध्यम से ध्यान क्रय करने में घोर लापरवाही बरती गई थी, जिसमें किसानों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा था. किसानों की परेशानी को देखते हुए इस वर्ष पैक्स के माध्यम से धान क्रय करने का निर्णय सरकार ने लिया है, जिसका शुभारंभ आज तिवारी मरहटिया गांव से हो रहा है.

गढ़वा जिले में लगभग 70 प्रतिशत लोग खेतीबारी पर निर्भर है और किसानी उनका मुख्य पेसा है. किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुये राज्य सरकार ने साधारण धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य 1940 तथा बोनस के रूप में 110 का प्रावधान किया है.

इसे भी पढ़ें:JPSC विवाद : छात्रों ने की 7वीं से लेकर 10वीं JPSC परीक्षा रद्द करने की मांग, मानव श्रृंखला बनाकर किया विरोध

ram janam hospital
Catalyst IAS

इस तरह से साधारण धान पर हेमंत सोरेन की सरकार किसानों को कुल 2050 प्रति क्विंटल एमएसपी दे रही है. ग्रेड ए के धान पर 1960 का न्यूनतम समर्थन मूल्य तथा 110 बोनस को मिलाकर कुल 2070 प्रति क्विंटल का प्रावधान किया गया है.

The Royal’s
Sanjeevani
Pitambara
Pushpanjali

पहले धान की राशि का भुगतान रिवाल्विंग फंड के माध्यम से किया जाता था. जिसमें किसानों को धान का मूल्य मिलने में काफी समय लग जाता था, लेकिन राज्य की हेमंत सोरेन सरकार ने इस बार किसानों को धान की राशि हाथों-हाथ देने का प्रावधान किया है तथा पैक्स में धान देने के 2 दिनों के अंदर किसानों के खाते में न्यूनतम समर्थन मूल्य की राशि उपलब्ध करा दी जायेगी.

इसे भी पढ़ें:सांसद संजय सेठ ने केंद्रीय इस्पात मंत्रालय के पास HEC और MECON का मामला उठाया

राज्य सरकार किसानों की समृद्धि के लिए क्रियाशील है बहुत जल्द सोन कनहर परियोजना को धरातल पर उतारा जायेगा.

यह परियोजना अभी पाइपलाइन में है धरातल पर उतरते ही जिले के सभी जलाशय, आहर-पोखर, डैम बारहो महीने पानी से भरा रहेगा तथा किसानों को सिर्फ प्राकृतिक सिंचाई पर निर्भर नहीं होना पड़ेगा.

सोन नदी से पानी को लिफ्ट कर जिले के सभी जलाशय तक पहुंचाया जायेगा, इससे जिले में सभी तरह के फसलों की बुवाई-कटाई संभव होगी. किसानों के लिए राज्य सरकार ने पचास हजार रुपए तक के ऋण माफी योजना चलाई है. इसका लाभ किसानों को मिल रहा है.

इसे भी पढ़ें:हाल एमजीएम अस्पताल का : दो माह से बेड पर पड़ी अनाथ महिला की अस्पताल प्रबंधन ने नहीं ली सुधि

गांव हरा-भरा रहे, पर्यावरण को लाभ हो तथा किसानों की बगवानी को ध्यान में रखते हुए सरकार की हरित क्रांति योजना भी किसानों को काफी लाभान्वित कर रहा है. कार्यक्रम का संचालन मुरली श्याम तिवारी ने किया.

मौके पर उप विकास आयुक्त सत्येंद्र नारायण उपाध्याय, सदर अनुमंडल पदाधिकारी एम राजेश्वरम, खाद्य आपूर्ति पदाधिकारी विजेंद्र कुमार, जिला सहकारिता पदाधिकारी अनिता कुमारी, मुखिया प्रतिनिधि बदरूद्दिन अंसारी, उप प्रमुख मुनेश्वर तिवारी, पंचायत समिती सदस्य अनुज तिवारी, विधायक प्रतिनिधि आशुतोष पांडेय, एमओ सह अंचलाधिकारी मयंक भूषण, समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें:लखीसराय में आठ दिन पहले जेल से छूटे समरजीत की गोली मारकर हत्या, एक घायल भी

Related Articles

Back to top button