GarhwaJharkhand

#Garhwa: कानूनी कार्रवाई से भयभीत कस्तूरबा विद्यालय की आठ वार्डन का सामूहिक इस्तीफा

Palamu / Garhwa: पलामू प्रमंडल के गढ़वा में शनिवार को एक साथ कस्तूरबा आवासीय विद्यालय की आठ वार्डन ने इस्तीफा दे दिया. वार्डन ने अपना इस्तीफा गढ़वा के जिला शिक्षा पदाधिकारी अखिलेश चौधरी को सौंपा है.

सभी ने वार्डन पद से मुक्त करते हुए एक शिक्षिका के रूप में सेवा देने की जानकारी दी है. डीईओ ने इसकी पुष्टि की है. उनके इस्तीफे की जानकारी विभाग के वरिये अधिकारियों को दे दी गयी है.

इसे भी पढ़ें – तो क्या रघुवर दास और राजबाला वर्मा ने 35 लाख लोगों को तीन साल तक भूखे रखने का पाप किया

पोक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई होने से हड़कंप

विदित हो कि गढ़वा के कांडी और मझिआंव कस्तूरबा आवासीय विद्यालय में पिछले दिनों कक्षा आठ और नवम वर्ग की छात्रा गर्भवती हो गयी थी.

इस सिलसिले में विद्यालय की वार्डन के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. दोनों के खिलाफ पोक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई किये जाने से अन्य वार्डन में हड़कंप मचा हुआ है.

सूचना देने पर भी कार्रवाई से आहत हैं सभी वार्डन

जिला शिक्षा पदाधिकारी को सौंपे अपने इस्तीफे में रंका कस्तूरबा विद्यालय की वार्डन मीनाक्षी, भंडरिया की आशा कुमारी तिग्गा, रमकंडा की सुमन कुमारी, डंडा की तनुजा कुमारी, मेराल, नगर सहित अन्य की वार्डन ने कहा कि समय पर सूचना देने पर भी पिछली दो घटनाओं में पोक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई की गयी.

इससे उन्हें भी इसका डर सता रहा है. उन्हें सुरक्षा दी जाये और कांडी और मझिआंव की वार्डन के खिलाफ लगाये गये पोक्सो एक्ट और अन्य संबंधित धाराओं से उन्हें मुक्त किया जाये.

इसे भी पढ़ें – जिस सीयूजे भवन के निर्माण की हो रही CBI जांच, उसका उद्घाटन करेंगे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद

नियुक्ति के अनुसार सिर्फ शिक्षिका रहने देने का आग्रह 

वार्डन ने कहा है कि उनकी नियुक्ति कक्षा 06 से 08 की शिक्षिकाओं के पद पर हुई है. परन्तु अभी तक वे अतिरिक्त कार्य के रूप में कक्षा 9 से 12 तक का संचालन करती आ रही हैं. वार्डन का भी प्रभार लेकर जिम्मेवारी से कार्य किया जाता रहा है, लेकिन वर्तमान घटनाओं को देखते हुए अब इस जिम्मेवारी में काफी खतरा महसूस हो रहा है. आरोपी लगाया है कि जहां सूचना देने एवं नहीं देने, दोनों स्थिति में वार्डन को ही जिम्मेदार बना दिया जा रहा है. इस कारण उनमें भय व्याप्त है. इस परिस्थिति में वार्डन पद पर रह कर कार्य नहीं करना चाहते. सिर्फ शिक्षिका के रूप में कार्य कर पाना संभव है.

इसे भी पढ़ें – पलामू टाइगर रिजर्व में बाघिन की मौत की हो उच्चस्तरीय जांच, सरयू राय ने घटना को लेकर कई सवाल उठाये

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close