Crime NewsGarhwaJharkhand

गढ़वा: दशरथ हत्याकांड में पुलिस ने पीटा झामुमो कार्यकर्ता को, ग्रामीणों ने घेरा रमकंडा थाना

Garhwa : जिले के रमकंडा थाना क्षेत्र की हरहे पंचायत के जेएमएम अध्यक्ष विनोद यादव की पुलिस पिटाई के खिलाफ आज रमकंडा थाना का घेराव किया गया. विदित हो कि पिछले दिनों केरवा गांव में दशरथ साव की हत्या कर दी गयी थी. इस हत्याकांड मामले में रविवार को थाना प्रभारी फैज रवानी द्वारा झारखंड मुक्ति मोर्चा के हरहे के पंचायत अध्यक्ष सह केरवा गांव निवासी विनोद यादव को हिरासत में लेकर पूछताछ की गयी.

आरोप है कि इस दौरान विनोद यादव की गंभीर रूप से पिटाई की गयी. इससे आक्रोशित सैकड़ों ग्रामीणों ने रविवार की दोपहर में रमकंडा थाना का घेराव किया. वहीं घंटो रमकंडा-मेदिनीनगर मुख्य मार्ग को जाम रखा. ग्रामीणों के आक्रोशित होने पर पुलिस द्वारा हिरासत में लिये गये झामुमो नेता को छोड़ दिया गया. लेकिन गंभीर रूप से घायल होने के कारण झामुमो नेता को इलाज के लिए एम्बुलेंस से अस्पताल भेजा गया.

मामले में ग्रामीण प्रभारी को हटाने की मांग पर अड़े हुये हैं. ग्रामीणों ने कहा कि जब तक थाना प्रभारी को निलंबित नहीं किया जाता है, तब तक रमकंडा थाना का घेराव जारी रहेगा. सड़क जाम करने की सूचना पर कोई भी वरीय अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचे थे.

जानकारी के अनुसार रविवार को थाना प्रभारी फैज रवानी दल बल के साथ मृतक के घर केरवा गांव पहुंचे थे. पीड़ित झामुमो नेता ने बताया कि इसी दौरान थाना प्रभारी द्वारा बुलाकर घटना के बारे में पूछताछ की गयी. बताया कि पूछताछ के दौरान ही उसके द्वारा हत्या में शामिल अभियुक्तों को तीन दिन थाना में रखकर छोड़ दिये जाने और अब तक कार्रवाई नहीं किये जाने की बात कहने पर थाना प्रभारी आगबबूला हो गये.

advt

वहीं जबरदस्ती थाना के वाहन में बैठाकर थाना ले गये. यहां गाली गलौज के साथ जमकर मारपीट की गयी. मामले में शामिल होने की बात कहने पर दबाव बनाने लगे. उनकी बात नहीं मानने पर थाने में ही डंडे से जमकर पिटाई की गयी.

इधर पुलिस की पिटाई से उनके घुटने से खून भी निकलने का निशान मिला है. थाना घेराव के दौरान झामुमो के युवा जिलाध्यक्ष नितेश सिंह, प्रखंड अध्यक्ष दिनेश प्रसाद, मुखिया राजकिशोर यादव, सत्यनारायण यादव, बसंत प्रसाद, शिवशंकर यादव, लालजी यादव, अवधेश प्रसाद, मिथलेश यादव सहित पीड़ित के परिजन शामिल थे.

केस इंचार्ज द्वारा हल्की पिटाई की गयी है: थाना प्रभारी

इस संबंध में पूछे जाने पर थाना प्रभारी फैज रवानी ने कहा कि 302 के मामले में हिरासत में लिया गया था. स्वयं घटनास्थल पर ही जांच के लिये रुके थे. वहीं थाना में केस इंचार्ज द्वारा पूछताछ के लिये हल्की पिटाई की गयी है.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: