GarhwaJharkhand

गढ़वा: नगर उंटारी अनुमंडल में केतार सीओ ने रजिस्ट्री ऑफिस के बजाय अपने नाम ही जारी की एलपीसी

Garhwa : जिले के नगर उंटारी (श्री बंशीधर नगर) अनुमंडल में अंधेरगर्दी मची हुई है. यहां अधिकारी सरकारी पत्र में क्या लिख रहे हैं या किसे लिख रहे हैं, उसे देखने की भी फुर्सत नहीं है और पत्र जारी कर दे रहे हैं. अलबत्ता जब अधिकारी से इसके बारे में प्रतिक्रिया मांगी गयी तो उनका जवाब था कि पत्र देखने के बाद ही वे कुछ बोलेंगे.
नगर उंटारी (श्री बंशीधर नगर) अनुमंडल अंतर्गत केतार अंचल की कर रहे हैं.

केतार अंचल के सीओ मेघन महतो ने हुरका गांव निवासी रामेश्वर सिंह एवं राजमणि सिंह के नाम से जो भूमि स्वामित्व पत्र (एलपीसी) जारी किया है.

उस पत्र में उन्होंने रजिस्ट्री ऑफिस श्री बंशीधर नगर अथवा गढ़वा के निबंधन पदाधिकारी के बजाय स्वयं को संबोधित कर भूमि स्वामित्व प्रमाण पत्र जारी कर दिया है.

advt

इसे भी पढ़ें: JHARKHAND: निजी क्षेत्र में 75 प्रतिशत आरक्षण का विधेयक इसी सत्र मेंं!

इस तरह की जल्दबाजी और हड़बड़ी में अंचल कार्यालय केतार की ओर जारी पत्र से प्रशासन की जमकर किरकिरी हो रही है.

adv

यहां बताते चलें कि श्री बंशीधर नगर के एसडीओ आलोक कुमार ने जमीन खरीद बिक्री संबंधी नियम के आलोक में बिना भूमि स्वामित्व पत्र (एलपीसी) के जमीन की रजिस्ट्री पर रोक लगा दी है, जिसके बाद जमीन की बिक्री करने वाले भू स्वामी एलपीसी को लेकर अंचल कार्यालय की ओर मुखातिब हैं. जहां पर अंधेरगर्दी मची है. केतार अंचल से जारी एलपीसी इस बात का प्रमाण है.

इसे भी पढ़ें: विधानसभा में 4684.93 करोड़ का अनुपूरक बजट पारित, बिनोद सिंह ने कटौती प्रस्ताव वापस लिया

क्या है पूरा मामला

केतार अंचल की ओर से हुरका गांव निवासी रामेश्वर सिंह एवं राजमणि सिंह के नाम से पत्रांक 02 दिनांक 3 सितंबर 2021 को भूमि स्वामित्व पत्र (एलपीसी) जारी किया है.

सीओ मेघन महतो ने रजिस्ट्री ऑफिस श्री बंशीधर नगर अथवा गढ़वा के रजिस्ट्रार (निबंधन पदाधिकारी) के बजाय अंचल अधिकारी केतार को ही संबोधित पत्र जारी किया है. इस पत्र के जारी होने से प्रशासन की स्थिति बेहद हास्यास्पद सी हो गयी है.

हालांकि अंचल प्रशासन इसे लिपिकीय भूल बताकर पल्ला झाड़ने की कोशिश करेगा, लेकिन पत्र को देखने से ही मालूम पड़ता है कि यह सब कुछ काफी जल्दबाजी में हुआ है और दाल में कुछ जरूर काला है, जिसकी जांच और गड़बड़ी में संलिप्त लोगों पर कार्रवाई आवश्यक है.

इसे भी पढ़ें: नमाज के लिए कमरा देने के विरोध में दीपक प्रकाश की अगुवाई में बुधवार को विधानसभा घेरेगी भाजपा

क्या कहते हैं एसडीओ

एसडीओ आलोक कुमार ने कहा कि सीओ ने स्वयं को संबोधित पत्र जारी किया है तो यह मानवीय भूल है, उन्हें सुधार करने के लिये अवगत करा दिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें: रांची : किडनैपर किंग चंदन सोनार को लाया गया होटवार जेल, 10 मार्च 2021 को किया गया था गिरफ्तार

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: