JharkhandPalamu

गढ़वा : हाथियों के झुंड ने आधा दर्जन घरों को तोड़ा, कई क्विंटल अनाज खाया, फसलों को किया बर्बाद

Palamu/Garhwa : पलामू प्रमंडल के गढ़वा जिले के रमकंडा व भंडरिया इलाके में रविवार की रात हाथियों के झुंड ने जमकर उत्पात मचाया. झुंड ने कई मकानों को ध्वस्त कर दिया. इसके अलावा ग्रामीणों के कई क्विंटल अनाज हाथी चट कर गये. हाथियों के भय से रात भर ग्रामीण खौफजदा रहे. वे हाथियों के झुंड को भगाने में परेशान रहे.

इसे भी पढ़ें- राज्य के 64 हजार 700 जनप्रतिनिधियों के पदों पर होना है पंचायत चुनाव, सरकार नहीं दे रही ध्यान  

इन ग्रामीणों के घर तोड़े

ram janam hospital
Catalyst IAS

रविवार की देर रात हाथियों का झुंड उत्पात मचाते हुए रमकंडा व भंडरिया के मंजरी गांव में घुस आया. इस दौरान हाथियों ने आधा दर्जन ग्रामीणों के घरों को क्षतिग्रस्त कर दिया. इनमें रमकंडा प्रखंड के मुरली गांव निवासी सीताराम लोहरा, मंजरी गांव निवासी हीरामन सिंह, सोमारू सिंह, बीरेंद्र कोरवा, सुरेश कोरवा, जागेश्वर कोरवा व जानकी कोरवा शामिल हैं. ग्रामीणों ने बताया कि मुरली गांव के सीताराम लोहरा का घर क्षतिग्रस्त करने के बाद हाथियों का झुंड मंजरी गांव पहुंचा, जहां तीन घंटे तक लगातार आधा दर्जन घरों को क्षतिग्रस्त किया. ग्रामीणों द्वारा मशाल जलाने व टिन बजाने के बाद हाथियों को भगाया गया.

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

गढ़वा : हाथियों के झुंड ने आधा दर्जन घरों को तोड़ा, कई क्विंटल अनाज खाया, फसलों को किया बर्बाद

ग्रामीणों ने बताया कि रात के 11:30 बजे हाथियों का झुंड गांव में पहुंचा और पहले सोमारू सिंह के घर को क्षतिग्रस्त कर दिया. इसके बाद थोड़े ही दूर में हीरामन सिंह के घर को क्षतिग्रस्त करते हुए घर के अंदर रखे हुए करीब दो क्विंटल चावल, पांच क्विंटल मक्का, 50 किलो तिल एवं मटर की फसल को चट कर गये. उसके बाद हाथी वीरेंद्र कोरवा के घर पहुंचा, जहां घर के दो हिस्सा को तोड़कर पूरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया. वहीं, घर के बगल खलिहान में रखे करीब 40 बोझा धान को चट करते हुए फसलों को तहस-नहस कर बर्बाद कर दिया. उसके बाद हाथियों ने जागेश्वर कोरवा, जानकी कोरवा व सुरेश कोरवा के घरों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया.

इसे भी पढ़ें- खूंटी के ग्रामीण क्षेत्रों में चल रहा सर्वेक्षण, सामाजिक सुरक्षा योजनाओं से जुड़ेंगे ग्रामीण

घटना की जानकारी मिलते ही वन सीमति के अध्यक्ष दिलीप सिंह ने पीड़ितों के घर पहुंचकर मामले की जानकारी ली और विभाग से हर संभव मुआवजा दिलाने की बात कही.

गांव से हाथियों के झुंड को भगाने के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस लिया. ग्रामीणों ने कहा कि क्षेत्र में हाथियों का आतंक काफी बढ़ गया. हाथियों के आतंक से बचने के लिए रातजगा करना पड़ रहा है. ग्रामीणों ने जल्द से जल्द वन विभाग से क्षेत्र से हाथियों के झुंड को भागने की मांग की है.

इसे भी पढ़ें- राज्य के कई जिलों में बनना है सोलर पार्क, अब तक जमीन ही उपलब्ध नहीं हुई

Related Articles

Back to top button