GarhwaJharkhandPalamu

गढ़वा: जवान के साथ मारपीट महंगी पड़ी- पुलिस इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर लाइन हाजिर, जांच शुरू

Palamu/Garhwa :  पलामू प्रमंडल के गढ़वा सदर थाना के प्रभारी सह इंस्पेक्टर लक्ष्मीकांत और सब इंस्पेक्टर स्वामी रंजन ओझा को लाइन हाजिर कर दिया गया है. दोनों के खिलाफ थाना के जवान रमेश उरांव के साथ मारपीट करने का मामला सामने आने पर गढ़वा के एसपी श्रीकांत सुरेश राव खोटरे द्वारा कार्रवाई की गयी. मारपीट में घायल जवान को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

इसे भी पढ़ेंः निजी अस्पतालों की मनमानी पर हाइकोर्ट में जनहित याचिका दायर

मारपीट के विरोध में पुलिस मेंस एसोसिएशन बैठा था धरना पर

बताया जाता कि रविवार को अवकाश के लिए आवेदन देने वाले जवान रमेश उरांव के साथ मारपीट के विरोध में गढ़वा पुलिस मेंस एसोसिएशन धरना पर बैठ गया था. कल देर शाम गढ़वा थाना में एसपी ने एसोसिएशन के पदाधिकारियों और जवानों को आश्वासन दिया था कि इस मामले में जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी. मुख्यालय डीएसपी दिलीप खलखो ने मामले की जांच की. और जांच रिपोर्ट वरीय पदाधिकारी को उपलब्ध करा दिया. जांच में दोषी पाए जाने पर गढ़वा सदर थाना के प्रभारी सह इंस्पेक्टर लक्ष्मीकांत और सब इंस्पेक्टर स्वामी रंजन ओझा को लाइन हाजिर कर दिया गया.

इसे भी पढ़ेंः गिरिडीह : फर्जी जाति प्रमाण पत्र के मामले में फरार चल रहे मेयर सुनील पासवान को हाईकोर्ट से मिली अग्रिम जमानत

क्या था मामला?

घायल जवान रमेश ने बताया कि उसने अवकाश के लिए आवेदन दिया था. रविवार को वह सुबह लगभग दस बजे थाना पहुंचा. थाना प्रभारी से छुट्टी देने की मांग की, तो थाना प्रभारी ने उसे बाहर बैठने के लिए कहा. थाना प्रभारी के आदेश के बाद वह बाहर बैठ गया. इस बीच हवलदार उनका पुलिस लाइन के लिए कमान लेकर पहुंचे. हवलदार को उन्होंने रुकने को कहा. थाना प्रभारी कहीं बाहर जाने के निकले तो तो उसने पुनः आग्रह करते हुए कहा कि उसकी तबीयत ठीक नहीं है. उसे अभी ड्यूटी नहीं दें.  इसी बात को सुनते ही थाना प्रभारी ने गाली गलौज करते हुए कॉलर पकड़ मारपीट की. थाना प्रभारी लात घुसे से पिटाई करने लगे. उसके बाद उन्होंने थाने में ही रहने को कहा.

दोपहर में जब वह खाना खाने जाने लगा तो सब इंस्पेक्टर स्वामी रंजन ओझा ने उससे बाहर नहीं जाने को कहा. जब उसने कहा कि खाना खाकर आ रहा हूं, तो ओझा भी मारपीट करने लगे. इसी बीच थाना प्रभारी और स्वामी रंजन ओझा दोनों ने मिलकर उसको रस्सी से बांधकर पीटा. लगभग चार घंटे तक उसे बांधकर थाना में रखा गया. हवलदार के आने के बाद उसकी रस्सी खोली गयी. मारपीट होने की सूचना मिलने के बाद पहुंचे पुलिस मेंस एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने उसे इलाज के लिए अस्पताल भेजा.

इसे भी पढ़ेंः 46,79893 छात्रों में 6 लाख को मिल रहा डिजिटल कंटेंट, 2 मिनट में 30 सेकेंड भी वीडियो नहीं देखते बच्चे

adv

जांच के बाद होगी विभागीय कार्रवाई: डीएसपी

गढ़वा के डीएसपी बहामन टूटी ने कहा कि थाना प्रभारी लक्ष्मीकांत और सब इंस्पेक्टर स्वामी रंजन ओझा द्वारा जवान के साथ मारपीट मामले में जांच की जा रही है. फिलहाल उन्हें लाइन हाजिर किया गया है. जांच में दोषी पाए जाने पर विभागीय कार्रवाई की जाएगी.

जवान के साथ मारपीट नहीं की

सब इंस्पेक्टर स्वामी रंजन ओझा ने कहा कि उन्होंने सिपाही रमेश उरांव के साथ मारपीट नहीं की है. उन पर लगाया गया आरोप बेबुनियाद है.

इसे भी पढ़ेंः 10 सालों से बंद है सिदुली का दिव्यांग पेंशन, CM  हेमंत सोरेन से लगायी गुहार

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: