JharkhandPalamu

#Garhwa : ट्रांसपोर्टरों की मनमानी, मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए 117 में से मात्र 14 ने दी बसें, कार्रवाई की तैयारी में प्रशासन

Garhwa/Palamu : पलामू प्रमंडल के गढ़वा जिले में ट्रांसपोर्टर प्रशासन की मदद नहीं कर रहे हैं. उनकी मनमानी काफी बढ़ गयी है. सरकार के इस अभियान में लगातार निर्देशों को नजरअंदाज किये जाने पर प्रशासन ट्रांसपोर्टरों के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी में है. प्राथमिकी दर्ज करने की बात कही गयी है. इसके साथ सभी को अंतिम चेतावनी जारी की गयी है.

विदित हो कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से हर दिन प्रवासी मजदूरों का आना हो रहा है. मजदूरों को उनके संबंधित जिलों में भेजने के लिए जिला प्रशासन द्वारा बसों की मांग की गयी थी. लेकिन जिले के ट्रांसपोर्टरों ने मजदूरों को घर पहुंचाने के लिए बसें देने से इंकार कर दिया है.

इसे भी पढ़ें – स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- समय से लॉकडाउन हुआ, नहीं तो आज 20 लाख लोग होते कोरोना से संक्रमित, जा सकती थी 37000-78000 लोगों की जान

advt

बसों का निबंधन सस्पेंड कर दिया जायेगा

गढ़वा जिला प्रशासन ने ऐसे ट्रांसपोर्टरों को अंतिम चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर बसें उपलब्ध नहीं करायीं, तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी. उनकी बसों का निबंधन सस्पेंड कर दिया जायेगा, जिसके बाद बस के मालिक अपनी बस नहीं चला पायेंगे.

निबंधन सस्पेंड करने के बाद सभी जिलों को एक पत्र भेजा जायेगा. जिसमें उनसे आग्रह किया जायेगा कि इन बसों को सीज कर लिया जाये. इतना ही नहीं, डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत उन लोगों के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज करायी जायेगी. जिनके नाम से बस का रजिस्ट्रेशन होगा.

प्रशासन की ओर से बताया गया कि गढ़वा जिले में लगभग 117 बसें निबंधित हैं. गत 15 दिनों से सबंधित मालिकों से वार्ता-अनुरोध करने पर भी मात्र 14 मालिकों द्वारा बसें उपलब्ध करायी गयी हैं. अब समाचार पत्र के माध्यम से सबको अंतिम अवसर दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – दिल्ली हाई कोर्ट से मधु कोड़ा को झटका, चुनाव लड़ने पर लगायी पाबंदी

adv

किसी तरह की कार्रवाई करेगा प्रशासन

  • बस का निबंधन ससपेंड किया जायेगा.
  • सभी जिलों को ऐसी सभी बसों को सीज करने का पत्र भेजा जायेगा.
  • डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट में निबंधित मालिकों के विरुद्ध आदेश के उल्लंघन पर एफआइआर की जायेगी.

इसे भी पढ़ें – #HemantGovt की 5 माह की अवधि में 8 से 9 लोगों की मौत भूख से, कमेटी बना जवाबदेही तय करे सरकार :  बाबूलाल

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button