NEWS

गढ़वा: सार्जेंट मेजर सहित अन्य पुलिस पदाधिकारियों पर अनुशासनहीनता का आरोप, एसपी ने कहा- होगी कार्रवाई

विज्ञापन

 

Palamu/Garhwa : पलामू प्रमंडल के गढ़वा जिले के कुछ पुलिस पदाधिकारियों में आपसी समन्वय नहीं बन पा रहा है. यही कारण है कि लगातार बयानबाजी की जा रही है. गढ़वा के परिचारी प्रवर (सार्जेंट मेजर) आनंद राज खलखो द्वारा अनुशासन के विपरीत जाकर प्रेस में बयानबाजी किए जाने पर गढ़वा के एसपी श्रीकांत एस खोत्रे ने इसे अनुशासनहीनता माना है और कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी है.

इसे भी पढ़ेंः जेटीयू : राज्यपाल की अनुमति बिना शुरू किया पीएचडी कोर्स, नामांकन भी लिया

advt

पदाधिकारी की छवि की धूमिल करने की कोशिश

गढवा के पुलिस अधीक्षक श्रीकांत एस खोत्रे ने कहा कि पुलिस एसोसिएशन गढवा शाखा के पदाधिकारियों द्वारा प्रेस कॉन्फ्रेंस कर निराधार बातों को आधार बनाते हुए वरीय पदाधिकारी की छवि की धूमिल करने की कोशिश की गयी है. उल्लेखनीय है कि विगत कुछ महीनों से गढ़वा पुलिस लगातार हर मोर्चे पर सफलता हासिल कर रही है तथा एक टीम की तरह काम कर रही है, परंतु कुछ पुलिस पदाधिकारी जैसे कि परिचारी प्रवर आनंद राज खलखो (अध्यक्ष पुलिस एसोसिएशन, गढ़वा) एवं कुछ अन्य पुलिस एसोसिएशन के सदस्यों पर गंभीर प्रकृति के आरोपों की जांच रिपोर्ट में पुष्टि हुई है.

अपने कार्यालय में एक प्रेस वार्ता कर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि अनुशासनिक कार्रवाई से प्रभावित होकर परिचारी प्रवर आनंद राज खलखो द्वारा भ्रामक तथ्यों को दुष्प्रचार कर एवं सोशल मीडिया में वायरल कर अधोहस्ताक्षरी को धूमिल करने एवं पद की गरिमा को ठेस पहुंचाने की कोशिश की गयी है.

इसे भी पढ़ेंः ‘रिसायकिल के बदले उपहार’ अभियान :  लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक बनाने के लिए अनोखी पहल

अस्पष्ट रूप से अनुशासनहीनता

पुलिस अधीक्षक ने कहा कि यह अस्पष्ट रूप से अनुशासनहीनता है. साथ ही अनावश्यक राजनीतिक कर गढ़वा पुलिस के माहौल को खराब करने का निरर्थक प्रयास किया गया है. इस बार विधिवत कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा कि उन्हें दोषी होने का भय है, इसलिए तिलमिलाकर ऐसा कर रहे हैं. पुलिस अधीक्षक ने कहा कि एसोसिएशन के लोग निजी स्वास्थ्य के लिए पद का इस्तेमाल कर रहे हैं.

adv

इसे भी पढ़ेंः एक अक्टूबर से शुरू होगी हेरिटेज क्रूज राइड, स्टीमर से कोलकाता के ऐतिहासिक घाटों की सैर

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button