JharkhandPalamu

Garhwa : बिहार चुनाव को लेकर अलर्ट, तीन दिनों तक बंद रहा सोन नदी नाव घाट

Garhwa : बिहार विधानसभा के पहले चरण के चुनाव के मद्देनजर बुधवार को सीमावर्ती क्षेत्रों में पुलिस गश्त तेज रही. गढ़वा जिला की सीमा सोन नदी तट के माध्यम से बिहार से जुड़ती है. चुनाव के मद्देनजर इन नदी तटों पर नावों की आवाजाही पूरी तरह से बंद कर दी गयी थी. उपायुक्त राजेश कुमार पाठक एवं पुलिस अधीक्षक श्रीकांत एस खोतरे स्वयं मोरचा संभाले हुए थे. दोनों वरीय पदाधिकारियों ने बिहार सीमा से सटे जिले में स्थित विभिन्न नाव घाटों का निरीक्षण किया.

Jharkhand Rai

निरीक्षण के क्रम में उन्होंने जिले के केतार प्रखंड के खैरवा व कांडी प्रखंड के श्रीनगर समेत अन्य नाव घाटों का जायजा लिया. इस मौके पर उपस्थित प्रखंड विकास पदाधिकारी केतार, प्रखंड विकास पदाधिकारी कांडी व संबंधित थाना प्रभारी को निर्देश दिया कि बिहार चुनाव को ध्यान में रखते हुए झारखंड राज्य से बिहार राज्य में आवागमन को पूर्णतया प्रतिबंधित करना सुनिश्चित करें.

इसे भी पढ़ें – JPSC के चेयरमैन बनाये गये अमिताभ चौधरी, 2 साल तक देंगे सेवा

नाव घाटों की ली जानकारी

निरीक्षण के दौरान उन्होंने चेक पोस्ट पर प्रतिनियुक्त पदाधिकारियों व पुलिस बल से नाव घाटों के माध्यम से लोगों के आवागमन के विषय में जानकारी भी ली. उपायुक्त के निर्देशानुसार मंगलवार से ही इन घाटों पर आवागमन प्रतिबंधित किया गया था.

Samford

इस अवसर पर उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक के अलावा अनुमंडल पदाधिकारी गढ़वा जियाउल अंसारी, अनुमंडल पदाधिकारी श्रीबंशीधर नगर जयवर्धन कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी केतार संदीप अनुराग टोपनो, प्रखंड विकास पदाधिकारी कांडी जॉन टुडू तथा केतार, कांडी व हरिहरपुर ओपी के थाना प्रभारी उपस्थित थे.

तीन दिन बंद रखा गया सोन नदी घाट पर आवागमन

बिहार व झारखंड की सीमा के बीच स्थित केतार सोन नदी के विभिन्न नाव घाटों पर आवागमन पूरी तरह से बंद रहा. इस वजह से दोनों राज्यों के लोग नदी पार नहीं कर सके. केतार में नाव घाट पर प्रतिबंधित आवाजाही पर नजर रखने के लिए दंडाधिकारी के रूप में कनीय अभियंता देवकुमार सिंह को प्रतिनियुक्त किया गया था. साथ ही उपायुक्त एवं एसपी ने भी घाट पर पहुंच कर स्थिति का मुआयना किया. सोन नदी के उस पार बिहार जानेवाले तथा सोन नदी के इस पर झारखंड आनेवाले लोगों के बारे में दोनों अधिकारियों ने दंडाधिकारी से पूछताछ की.

इसे भी पढ़ें – भाजपा ने सरकार से पूछा ‘क्या हुआ तेरा वादा’, कहां है नौकरी और कहां है बेरोजगारी भत्ता

बिहार से आनेवाली नावों को बंद कर दिया गया

इस पर प्रतिनियुक्त कर्मियों द्वारा उन्हें बताया गया कि तीन दिन पूर्व से सोन नदी के उस पार बिहार राज्य के सभी नाव को बंद कर दिया गया है. इसके कारण इस तरफ से उस तरफ के लोगों का आना जाना पूरी तरह बंद है. बताया गया कि थाना क्षेत्र के खैरवा, पाचाडुमर, परती कुश्वानी सोन नदी घाट पर एक सप्ताह पूर्व से ही नाका लगा कर प्रशासन द्वारा लोगों की आवाजाही पर पैनी नजर रखी जा रही थी.

इधर, केतार पहुंचे दोनों अधिकारी उपायुक्त व एसपी ने प्रखंड कार्यालय और केतार थाना का निरीक्षण कर विधि व्यवस्था का जायजा लिया. इस मौके पर एसडीएम जयवर्धन कुमार, पुलिस इंस्पेक्टर रामजी महतो, थाना प्रभारी जयनाथ उरांव आदि उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – रांची विश्वविद्यालय : अनुबंधित असिस्टेंट प्रोफेसर बकाया मानदेय की मांग को लेकर 29 अक्तूबर से अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार पर रहेंगे

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: