Crime NewsJharkhandRanchi

गैंगस्टर सुजीत सिन्हा के नाम पर मयंक सिंह ने रांची के कारोबारी से मांगी एक करोड़ की रंगदारी

Ranchi. राज्य के कारोबारियों से सुजीत सिन्हा के नाम पर रंगदारी मांगे जाने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है. इसी दौरान मंगलवार को सुजीत सिन्हा के नाम पर मयंक सिंह ने तुपुदाना के कारोबारी प्रवीण कुमार से एक करोड़ रुपया की रंगदारी मांगी है. गौरतलब है कि इससे पहले बीते 18 सितंबर को प्रवीण कुमार के बिजनेस पार्टनर और राइस मिल संचालक अनीश कुमार से भी सुजीत सिन्हा के नाम पर मयंक सिंह एक करोड़ रुपया रंगदारी मांगी थी.

एक सप्ताह के अंदर मांगी गई है एक करोड़ रुपया

गैंगस्टर सुजीत सिन्हा के नाम पर मयंक सिंह के द्वारा प्रवीण कुमार को भेजे मैसेज में कहा है कि, प्रवीण बाबू मयंक सिंह बोल रहे हैं. सुजीत सिन्हा गैंग से, बॉस का मैसेज है आपके लिए बहुत जमीन कारोबार में माल कमा लिए हैं जरा अब ध्यान दीजिए हम लोग पर. एक करोड़ रुपया चाहिए एक सप्ताह के अंदर सपोर्ट कीजिएगा तो मदद समझेंगे नहीं तो रंगदारी ही समझ लीजिए. और बात इधर-उधर मत करिएगा अनीश शर्मा की तरह, नहीं तो आपको आपके ऑडी में ही समाधि बनवा देंगे और अनीश शर्मा का क्या होता है देख लीजिएगा मयंक सिंह.

अधिवक्ता राजीव कुमार के भाई अनीश से मांगी गई थी रंगदारी

अधिवक्ता राजीव कुमार के भाई अनीश के व्हाट्सएप पर बीते 18 सितंबर को मयंक सिंह का मैसेज आया था. बोला गया कि सुजीत सिन्हा गैंग के मयंक सिंह बोल रहे है. बॉस का आदेश है कि आप सहयोग के रूप में एक करोड़ नकद राशि दे तो आपसे रिश्ता आगे तक रहेगा और अगर तीन-पांच कीजिएगा तो रंगदारी के रूप में देना होगा.

झारखंड अन्य आपराधिक गैंग कि तुलना में सुजीत सिन्हा गैंग का उत्पात बढ़ा है

झारखंड अन्य आपराधिक गैंग कि तुलना में सुजीत सिन्हा गैंग का उत्पात बढ़ा है. राज्य में अमन श्रीवास्तव, किशोर पाण्डेय, अनिल शर्मा, चन्दन सोनार, सहित कई बड़े आपराधिक गैंग सक्रिय है. लेकिन हाल के समय में सुजीत सिन्हा गैंग पुलिस के हिए सिरदर्द बन गया है. गैंग के उत्पात से व्यवसायी वर्ग भी आतंकित है. जमशेदपुर जेल में उम्रकैद की सजा काट रहे गैंगस्टर सुजीत सिन्हा का गैंग झारखंड पुलिस को बड़ी चुनौती दे रहा है. पुलिस ने सुजीत सिन्हा गैंग के कई छोटे बड़े अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा. इसके बाद भी सुजीत सिन्हा के गैंग के द्वारा राज्य के कोयला कारोबारी, बिल्डर, व्यवसायी से लेवी मांगने का काम किया जा रहा है.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button