Court NewsJharkhandRanchi

साक्ष्य के अभाव में गैंगस्टर सुजीत सिन्हा व अमन साव बरी

व्यवसायी से रंगदारी मांगने के मामले में थे अभियुक्त

Ranchi: रांची सिविल कोर्ट से बुधवार को रांची के व्यवसायी से रंगदारी मांगे जाने के मामले में अभियुक्त गैंगस्टर सुजीत सिन्हा व अमन साव को बड़ी राहत मिली है. न्यायिक दंडाधिकारी एमके सिंह की अदालत ने सुजीत सिन्हा व अमन साव को साक्ष्य के अभाव में बरी कर दिया है. अदालत ने माना कि इस मामले में अभियोजन अभियुक्तों पर आरोप साबित करने में नाकाम रहा. इसलिए सभी अभियुक्तों को बरी किया जाता है.

प्रार्थी के अधिवक्ता विनोद कुमार सिंह ने कोर्ट को बताया कि जब मोबाइल से मैसेज भेजकर रंगदारी मांगी गई उस दौरान सुजीत सिन्हा और अमन साव न्यायिक हिरासत में थे.

इसे भी पढ़ें :केंद्रीय चुनाव आयोग को झारखंड हाइकोर्ट का नोटिस: किस नियम के तहत जेवीएम का सिम्बल खत्म हुआ?

advt

इसके अलावा पुलिस ने इस मामले में उस मोबाइल को जब्त भी नहीं किया, जिससे व्यवसायी को रंगदारी देने और धमकी का मैसेज दिया गया है. ऐसे में उन पर कोई प्रत्यक्ष आरोप साबित नहीं होता है. इसलिए अभियुक्तों को बरी किया जाए.

बता दें कि वर्ष 2020 में बरियातु थाने में विपिन मिश्रा ने सुजीत सिन्हा और अमन साव समेत सात लोगों के खिलाफ रंगदारी मांगने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज कराई थी. आवेदन में कहा गया है कि अमन साव ने खुद को सुजीत सिन्हा गैंग का बताते हुए उनसे 25 लाख रुपये की रंगदारी मांगी थी. रंगदारी नहीं देने पर जान से मारने की धमकी दी गई थी.

adv

इस मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से पुलिस ने कोर्ट में छह गवाह पेश किए थे. जबकि बचाव पक्ष की ओर से एक भी गवाह पेश नहीं किया गया.

इसे भी पढ़ें :  हाईकोर्ट ने एसएसपी को बुलाकर पूछा, अधिवक्ता मनोज झा हत्याकांड में पुलिस ने क्या कार्रवाई की?

सुजीत सिन्हा व अमन साव का नाम चर्चित अपराधियों में शामिल

सुजीत सिन्हा व अमन साव का नाम झारखंड के चर्चित अपराधियों में शामिल हैं. इनके खिलाफ अलग-अलग थानों में प्राथमिकी दर्ज है. इसमें कई मामले बेहद गंभीर प्रवृति के हैं.

ऐसे में व्यवसायी को धमकी देने के मामले में साक्ष्य के अभाव में इन लोगों के बरी होने की स्थिति पुलिस की जांच प्रणाली पर सवाल खड़े करती है.

इसे भी पढ़ें :बिहार में बदला मौसम का मिजाज, अंधेरा छाने के बाद तेज बारिश, कई जिलों में अलर्ट जारी

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: