Crime News

गम्हरिया: जिलिंगगोड़ा घाट से कौन उठा रहा बालू, पुलिस क्यों है मौन ?

Saraikela: सरायकेला-खरसावां जिला में बालू माफिया पुलिस और प्रशासन को खुली चुनौती दे रहे हैं. एक घाट पर पुलिस-प्रशासन बालू माफियाओं पर नकेल कसती है, तो बालू माफिया दूसरे घाट का रुख कर लेते हैं. कुल मिलाकर जिले के नदियों से अवैध बालू का खनन जारी है.

advt

इन तस्वीरों को आप देखिए, ये तस्वीरें हैं गम्हरिया थाना अंतर्गत जिलिंगगोड़ा घाट का. जहां दिन के उजाले में बालू माफिया खुलेआम खरकई नदी से बालू खनन और उठाव करते देखे जा सकते हैं. अब सवाल ये है, कि आखिर स्थानीय पुलिस और खनन विभाग की नजर इस ओर क्यों नहीं पड़ रही.

इसे भी पढ़ें: जानिये 66 अरब रुपये के ट्रांजेक्शन की सबसे बड़ी बैंकिंग मिस्टेक में भारत की किस कंपनी के कर्मियों का नाम आया

वैसे यह इलाका राज्य के मंत्री और स्थानीय विधायक चम्पई सोरेन का है. ऐसे में इतने बड़े पैमाने पर बालू खनन हो रहा है और मंत्री को इसकी भनक तक नहीं है.

बताया जाता है कि दो हजार रुपए प्रति ट्रैक्टर की दर से यहां से बालू बेचा जा रहा है. सूत्र बताते हैं कि किसी एसके और युवराज नाम के लोग यहां से बालू की डील करते हैं. सूत्र बताते हैं कि दिनभर में जिलिंगगोड़ा घाट से 15 से 20 ट्रैक्टर बालू उठाव हर दिन हो रहा है.

इसे भी पढ़ें: शर्मनाक: झारखंड में जादू–टोना और डायन बिसाही के नाम पर मारी जा रही हैं महिलाएं

 

 

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: