न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

गडकरी के बयान से हलचल, कहा- सपने पूरे नहीं करने वाले नेता की जनता पिटाई भी करती है  

मैं सपने दिखाने वाले में से नहीं हूं, मैं जो बोलता हूं वो 100 फीसदी डंके की चोट पर पूरा करता हूं.

226

 NewDelhi : सपने दिखाने वाले नेता लोगों को अच्छे लगते हैं, पर दिखाये हुए सपने यदि पूरे नहीं किये तो जनता उनकी पिटाई भी करती है. इसलिए सपने वही दिखाओ जो पूरे हो सकें.  केंद्रीय मंत्री और भाजपा के सीनियर नेता नितिन गडकरी के इस बयान पर राजनीतक गलियारों में हलचल मच गयी है और सियासी पारा गरमा गया है.  बता दें अभिनेत्री ईशा कोप्पिकर को भाजपा में शामिल कराने के लिए आयोजित कार्यक्रम में नितिन गडकरी शामिल हुए थे. वहां गडकरी ने कहा कि मैं सपने दिखाने वाले में से नहीं हूं, मैं जो बोलता हूं वो 100 फीसदी डंके की चोट पर पूरा करता हूं. लोकसभा चुनाव से पूर्व  नितिन गडकरी के इस बयान के सियासी मायने निकाले जाने तय हैं. बता दें कि विपक्षी दल पीएम मोदी को सपनों के सौदागर बताता रहा है. उनके अच्छे दिन आने वाले हैं…नारे पर जमकर चुटकी ली जाती है.

ऐसे में गडकरी के इस बयान पर राजनीतिक ड्रामा शुरू हो गया है.  गडकरी के बयानों और कार्यकलापों पर नजर डालें तो 70वें गणतंत्र दिवस के मौके पर नितिन गडकरी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ बातचीत करते देखे गये थे.  एक कार्यक्रम में गड़करी ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की तारीफ भी की थी.

मीडिया का एक वर्ग मेरे बयानों को गलत तरीके से पेश कर रहा है

इन सब के बाद सपने दिखाने वाले नेताओं की पिटाई वाला बयान गडकरी के लिए मुश्किलों का सबब बन सकता है.  यह पहला मौका नहीं है कि गडकरी के बयान पर भाजपा को मुश्किलों का सामना करना पड़ा हो. बता दें कि तीन राज्यों में भाजपा को मिली हार के बाद नितिन गडकरी ने कहा था कि नेतृत्व को हार और विफलता की भी जिम्मेदारी स्वीकार करनी चाहिए. इशारों-इशारों में गडकरी ने कहा था कि कोई भी सफलता की तरह विफलता की जिम्मेदारी नहीं लेना चाहता है. बवाल होने पर नितिन गडकरी अपने विवादित बयानों का  ठीकरा मीडिया पर फोड़ दिया था. एक कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्री ने सफाई पेश करते हुए कहा था कि मीडिया का एक वर्ग है जो मेरे बयानों को गलत तरीके से पेश कर रहा है.

Related Posts

जम्मू-कश्मीर : राज्य सचिवालय भवन से जम्मू-कश्मीर का झंडा हटा,  सिर्फ तिरंगा लहराया

जम्मू कश्मीर में अब तक अलग निशान (झंडे) और अलग विधान की परंपरा चली आ रही थी.

SMILE

ओवैसी ने मोदी पर साधा निशाना

गडकरी की इस टिप्पणी से कांग्रेस और एआईएमआईएम सांसद को भाजपा पर निशाना साधने का एक मौका मिल गया. ओवैसी ने कहा कि गडकरी का संदेश प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए था. उन्होंने एक ट्वीट में कहा, पीएमओ सर नितिन गडकरी ने आपको बड़ी चालाकी से आईना दिखा दिया है. वहीं मध्य प्रदेश कांग्रेस ने गडकरी को कोट करते हुए ट्वीट किया, केंद्रीय मंत्री ने पीएम मोदी पर हमला बोला है. मोदीजी जनता आ रही है.

 इसे भी पढ़ें : ईवीएम हैकिंग प्रकरण में कूदे चंद्रबाबू नायडू, कहा, की जा सकती है हैक

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: