JharkhandRanchi

युवा संवाद-3 : ‘पूर्ण बहुमत वाली सरकार अपने कार्यकाल में जेपीएससी से एक भी नौकरी नहीं दिला पायी’

विज्ञापन

Ranchi : “पूर्ण बहुमत वाली सरकार ने काला धन, युवाओं के लिए रोजगार के अवसर, भ्रष्टाचार मुक्त शासन देने का वादा पूरा नहीं किया. राज्य के दूर-दराज से रांची आकर प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवाओं के समक्ष सरकारी नौकरी को लेकर निराशाजनक परिस्थितियां हैं.”

“जेपीएससी द्वारा वर्तमान सरकार के कार्यकाल में एक भी नियुक्ति नहीं हो पायी, जबकि राज्य के सभी विभागो में सरकारी नौकरियों के लाखों पद रिक्त पड़े हुए हैं. राज्य में भ्रष्टाचार चरम पर है जिस पर सरकार अंकुश नहीं लगा पायी. कृषि क्षेत्र में भी झारखंड बनने के पूर्व 12% सिंचित क्षेत्र थे, 19 सालों बाद भी स्थिति कमोबेश वैसी ही है. राज्य में उद्योग, खनन के क्षेत्र में भी रोजगार के अवसर सृजित नही हो रहे जिससे युवाओं में अपने भविष्य को लेकर निराशा है.”

advt

न्यूज विंग के युवा संवाद में बोलते हुए अमरनाथ लकड़ा ने उक्त बातें कहीं. अमरनाथ ने केमिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है और बिना सरकारी सहयोग के स्वरोजगार कर रहे हैं. 

इसे भी पढ़ें : लातेहार एसडीओ जय प्रकाश झा ने तथ्यों को नजरअंदाज कर 16.98 एकड़ भूमि विवाद में फैसला दिया

पूर्ण बहुमत वाली सरकार राज्य के मानव संसाधन को दक्ष बनाने में विफल रही : कुणाल

गुमला के कोटम निवासी कुणाल कहते हैं : “राज्य में पूर्ण बहुमत की सरकार से युवाओं को काफी उम्मीद थी. राज्य सरकार द्वारा सड़क, शौचालय, गैस कनेक्शन, आयुष्मान भारत व 108 एंबुलेंस सेवा के साथ ही कृषि आशीर्वाद योजना के तहत कैस ट्रांसफर जैसे बेहतरीन काम हुए हैं. लेकिन इससे राज्य के मानव संसाधनों का दक्ष नहीं बनाया जा सकता.

राज्य का अगर बेहतर विकास करना है तो मानव संसाधन को दक्ष बनाना होगा इसके लिए राज्य सरकार ने काम नहीं किया. कौशल विकास के नाम पर सिर्फ राज्य में खानापूर्ति की गयी. मेरे गांव कोटम के ग्रामीण दो माह सिर्फ खेती के समय ही रुकते हैं. उसके बाद गांव के युवक-युवतियां गांव से दूसरे राज्य पलायन कर जाते हैं. गांव में पांच साल में सिर्फ एक बदलाव हुआ गांव तक चौड़ी सड़क बनी है. बाकी आज भी गांव की परिस्थितियां पूर्व की तरह ही हैं.”

adv

इसे भी पढ़ें : UGC के निर्देशों के प्रति उदासीन यूनिवर्सिटी, राज्य में नये सेशन के लिए समय पर नहीं हो सका एडमिशन

भ्रष्टाचार का है राज्य में बोलबाला : कृष्णा 

स्पीकर के विधानसभा क्षेत्र सिसई के रहने वाले युवा कृष्णा कहते हैं : “पूर्ण बहुमत की सरकार अपने वादे पर खरी नहीं उतरी. राज्य में भ्रष्टाचार का आलम यह है कि सिसई प्रखंड के नवनिर्मित भवन में पहली बरसात में ही पानी टपकने लगा, प्लास्टर झड़ रहे हैं. सड़क, भवन निर्माण पूर्ण बहुमत की सरकार ने खूब किया लेकिन उसने गुणवत्ता को ध्यान नहीं रखा .पूर्ण बहुमत वाली सरकार के शासन में राज्य के युवा पलायन करने को मजबूर हैं.”

राज्य की बदहाली के लिए कौन है दोषी?

युवा संवाद कार्यक्रम में बोलते हुए युवाओं ने एक सुर में कहा कि राज्य की बदहाली के लिए सिर्फ सत्ताधारी दल ही दोषी नहीं है बल्कि विपक्ष भी दोषी है. विपक्ष का काम सिर्फ सत्ताधारी दल के विरोध करना नहीं बल्कि राज्य की उन्नति के लिए बेहतर नीति निर्धारण में सहयोग करना भी होता है.

राज्य के विकास के लिए सही नीति निर्धारण हो इसके लिए न तो सत्ता पक्ष और न ही विपक्ष को कोई रुचि है. सरकार ने जितनी भी घोषणा की अगर वह पूरी नहीं हो रही तो ऐसे में विपक्ष का दयित्व अधिक बढ़ जाता है. साथ ही सरकारी योजनाओं में हो रहे भ्रष्टाचार को लेकर विपक्षी पार्टियों ने जनहित में अपनी सही भूमिका का निर्वहन अपवाद के तौर पर ही किया.

इसे भी पढ़ें : जिस तरह अजय कुमार ने इस्तीफा दिया, उसके तार कहीं BJP की जमशेदपुर पश्चिमी सीट से तो नहीं जुड़े !

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button