न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

फ्रंच गुइयाना से भारत के अब तक के सबसे वजनी उपग्रह जीसैट-11 के प्रक्षेपण की उलटी गिनती शुरू

15

Bengaluru : भारत के अब तक के सबसे वजनी उपग्रह जीसैट-11 के फ्रेंच गुइयाना से प्रक्षेपण के लिए मंगलवार को उलटी गिनती शुरू हो गयी. उपग्रह का प्रक्षेपण बुधवार को तड़के होगा और इससे देश में ब्रॉडबैंड सेवाओं को बढ़ावा मिलेगा. भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान केंद्र (इसरो) ने बताया कि उपग्रह का प्रक्षेपण बुधवार को भारतीय समयानुसार रात दो बज कर सात मिनट पर होगा और इसके लिए उलटी गिनती भारतीय समयानुसार अपराह्न एक बज कर 14 मिनट पर शुरू हुई.

प्रक्षेपण का समय भारतीय समयानुसार रात दो बज कर सात मिनट

यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी आरियानेस्पेस का प्रक्षेपण यान आरियाने-5 उपग्रह को ले जाएगा. प्रक्षेपण का समय भारतीय समयानुसार रात दो बज कर सात मिनट से रात तीन बज कर 23 मिनट के बीच है. आरियानेस्पेस ने अपनी वेबसाइट पर कहा, ‘‘आरियानेस्पेस के 2018 के 10वें अभियान के लिए आरियाने 5 अब फ्रेंच गुइयाना के प्रक्षेपण क्षेत्र में है. यह दो अंतरराष्ट्रीय पेलोड – भारत के जीसैट-11 और कोरिया के लिए जीयो-कोंपसैट-2ए – के साथ कल प्रक्षेपण के लिए तैयार है.

इसरो निर्मित सबसे ज्यादा वजन का उपग्रह

करीब 5854 किलोग्राम वजन के जीसैट-11 का निर्माण इसरो ने किया है. यह इसरो निर्मित सबसे ज्यादा वजन का उपग्रह है. जीसैट-11 अगली पीढ़ी का ‘‘हाई थ्रोपुट’’ का संचार उपग्रह है जिसका विन्यास इसरो के आई-6के के इर्दगिर्द किया गया है. यह 15 साल से ज्यादा समय तक काम आएगा. इसे शुरू में भू-समतुल्यकालिक स्थानांतरण कक्षा में रखा जाएगा. बाद में लिक्विड एपोजी मोटर की मदद से इसे भू-स्थैतिक कक्षा में स्थापित किया जाएगा. इसे शुरू में 25 मई को प्रक्षेपित किया जाना था लेकिन अतिरिक्त तकनीकी जांच को ले कर इसके प्रक्षेपण की तारीख बदल दी गई.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: