Jamshedpur

शहर के जाने-माने डॉ जॉय भादुड़ी से इंश्योरेंस के नाम पर 14 लाख की धोखाधड़ी

अक्सा लाइफ कंपनी के सेल्स एक्जीक्यूटिव समेत अन्य के खिलाफ सीतारामडेरा थाने में शिकायत 

Jamshedpur : शहर के जाने-माने डॉक्टर जॉय भादुड़ी से इंश्योरेंस पॉलिसी के नाम पर करीब 14 लाख की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है. इस मामले में डॉ जॉय भादुड़ी ने सीतारामडेरा थाना में अक्सा लाइफ इंश्योरेंस कंपनी के सेल्स एक्जीक्यूटिव चंदन कुमार शॉ उर्फ चंदन कुमार के अलावा कंपनी के अन्य कर्मचारियों एवं पदाधिकारियों के खिलाफ धोखा देकर फर्जीवाड़ा करने का मामला दर्ज कराया है. डॉ भादुड़ी न्यू बाराद्वारी 99, बीएसएनएल कार्यालय के पास के रहने वाले हैं. उनकी पहचान शहर जाने-माने शिशु रोग विशेषज्ञ के रुप में है. उनके मुताबिक मामले का मुख्य आरोपी चंदन कुमार मुख्य रुप से बहरागोड़ा का स्थाई निवासी है. वह आदित्यपुर में भी रहता था.

Advt

यह है मामला

दर्ज शिकायत में डॉ भादुड़ी ने बताया है कि वर्ष 2018 के अगस्त महीने में खुद को भारती अक्सा लाइफ इंश्योरेंस कंपनी का सेल्स एक्जीक्यूटिव होने का दावा करने वाले चंदन कुमार से उनका परिचय हुआ था. उसके बाद वह उनके क्लीनिक में आने-जाने लगा. उसी दौरान उसने डॉक्टर भादुड़ी को लुभावने प्रस्ताव देकर अपनी कंपनी के विभिन्न पॉलिसी को खरीदने का प्रस्ताव दिया. इसपर जब डॉक्टर भादुड़ी ने कंपनी के जमशेदपुर कार्यालय में फोन पर चंदन कुमार के बारे में जानकारी ली तो उसके बारे में आश्वस्त किया गया कि वह कंपनी का सेल्स एक्जीक्यूटिव है. उससे पॉलिसी खरीद सकते हैं. कंपनी के अधिकारी की बात पर विश्वास कर डॉ भादुड़ी ने अपने नाम पर अपनी पत्नी डॉ गौरी भादुड़ी के नाम पर तथा बेटी डॉ सोहिनी भादुड़ी के नाम पर सितंबर 2018 से अक्टूबर 2020 के बीच अलग-अलग पॉलिसी खरीदी, लेकिन अब उन्हें ना तो खुद को कंपनी का कंपनी के सेल्स एक्जीक्यूटिव कहने वाला चंदन कुमार कोई रिस्पांस दे रहा है और ना ही कंपनी के अधिकारी या कर्मचारी. डॉ भादुड़ी ने दावा किया है कि कंपनी के पदाधिकारियों एवं कर्मचारियों की मिलीभगत से उनके रुपये को हड़प लिया गया है. उन्होंने मामले से संबंधित दस्तावेज अपने पास होने का दावा करते हुए पुलिस से मामले की उचित जांच कर दोषियों पर कार्रवाई की मांग की है.

इसे भी पढ़ें- चक्रधरपुर रेल मंडल के कई रेलवे क्वार्टरों पर है दबंगों और ठेकेदारों का कब्जा, रेल जीएम के आदेश के बाद रेल अधिकारी सकते में

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Advt

Related Articles

Back to top button