न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

फ्रांस ने लगायी पीएम मोदी के आतंकवाद पर वैश्विक सम्मेलन के प्रस्ताव पर मुहर

फ्रांस ने सोमवार को आतंकवाद के खतरे से निपटने के लिए वैश्विक सम्मेलन रखने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्ताव का स्वागत किया.

44

NewDelhi  : आतंकवाद के खतरे से निपटने के लिए फ्रांस भारत के साथ है. फ्रांस ने सोमवार को आतंकवाद के खतरे से निपटने के लिए वैश्विक सम्मेलन रखने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्ताव का स्वागत किया. भारत दौरे पर आये फ्रांस के यूरोप एवं विदेश मामलों के मंत्री जीन बापटिस्ट लेमोयन ने कहा कि आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई फ्रांस की शीर्ष प्राथमिकताओं में शुमार है.

बता दें  कि हाल ही में मालदीव की संसद को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा था कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने जलवायु परिवर्तन के खतरे पर कई वैश्विक समझौते और कई सम्मेलन किये हैं तो आतंकवाद के मुद्दे पर भी सम्मेलन क्यों नहीं हो सकता.

इसे भी पढ़ें हिंसा के विरोध में भाजपा का बशीरहाट में 12 घंटे का बंद, पूरे बंगाल में काला दिवस

आतंकवाद से लड़ने की हर एक पहल का स्वागत

लेमोयन ने कहा, आतंकवाद से लड़ने की हर एक पहल का स्वागत है क्योंकि यह विश्व के प्रत्येक देश के लिए खतरा है.  इसलिए प्रयासों को एकजुट करने के लिए जो कुछ संभव है उसका स्वागत है.  आतंकवाद जलवायु परिवर्तन की तरह एक चुनौती है.

हम इस कदम पर करीब से गौर करेंगे.  लेमोयन ने कहा, आतंकवाद के खिलाफ जंग हमारी शीर्ष प्राथमिकता है.  फ्रांस इस मुद्दे पर भारत के साथ खड़ा है. कहा कि मैं यह कह सकता हूं कि इस मोर्चे पर हमारे संबंध मजबूत हैं.

Related Posts

 नजरबंद उमर अब्दुल्ला हॉलिवुड फिल्में देख रहे हैं, महबूबा मुफ्ती किताबें पढ़ समय बिता रही हैं

जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 के प्रावधानों को खत्म करने के फैसले से पहले कश्मीर के कई राजनेता नजरबंद किये गये थे.

SMILE

विपक्षी पार्टियां जहां मोदी सरकार पर राफेल डील में घोटाले के आरोप लगा रही है, वहीं लेमोयन ने कहा कि फ्रांस सरकार को इन विवादों से फर्क नहीं पड़ता. हम सिर्फ इसकी आपूर्ति चाहते हैं. यह दोनों देशों के राष्ट्रीय हित में है. हम चाहते हैं कि भारत और फ्रांस और संप्रभु बनें.

उन्होंने कहा कि फ्रांसीसी लड़ाकू विमान सितंबर में भारत पहुंचेगा और यह नयी दिल्ली-पैरिस सहयोग का एक मजबूत संकेत होगा. उन्होंने कहा कि इसके बाद 36 राफेल विमानों की एक-एक कर आपूर्ति की जायेगी.

इसे भी पढ़ें-  प्रसिद्ध साहित्यकार-एक्टर गिरीश कर्नाड का लम्बी बीमारी के बाद निधन

एस जयशंकर से  मुलाकात करेंगे लेमोयन

अपनी भारत यात्रा पर लेमोयन ने बिजनस ऐडमिनिस्ट्रेशन, इंजीनियरिंग एवं डिजाइन के क्षेत्र में फ्रांस के संस्थानों में पढ़ चुके भारतीय छात्रों के साथ बातचीत भी की. लेमोयन विदेश मंत्री एस जयशंकर, शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी और भारत उद्योग परिसंघ के प्रतिनिधि मंडल से भी मुलाकात करेंगे.  नरेंद्र मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल की शुरुआत के बाद यह फ्रांस के किसी मंत्री का पहला भारत दौरा है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: