JharkhandRanchi

चतुर्थ विधानसभा: 127 कार्यदिवस में 127 विधेयक हुए पारित, पूछे गये 9455 प्रश्न

विज्ञापन

Ranchi: विधानसभा के नये भवन में आयोजित किये गये विशेष सत्र के साथ चतुर्थ विधानसभा का अंतिम सत्र समाप्त हो गया. इस विधानसभा में 5 सालों में 127 कार्य दिवस का आयोजन किया गया. 127 दिन के कार्य दिवस में 127 विधेयकों को पारित किया गया.

कुल 130 विधायक पटल पर रखे गये थे. इस दौरान कुल 6 अवसरों पर राज्यपाल ने विधान सभा को संबोधित किया. इसके अलावा राज्य के वित्त मंत्री ने 6 अवसरों पर बजट भाषण पढ़ा. इन 5 सालों में 2 संविधान संशोधन विधेयकों पर भी सभा का अनुसमर्थन प्राप्त किया गया.

इसे भी पढ़ें – झारखंड के डीसी IAS Code of Conduct के खिलाफ जाकर चला रहे हैं #jharkhandwithmodi कैंपेन

advt

9,455 प्रश्नों की सूचनाएं मिलीं

5 सालों के विधानसभा सत्र में कुल 9455 प्रश्नों की सूचनाएं विधानसभा सदस्यों के द्वारा सदन को प्राप्त हुईं. इनमें से 2118 प्रश्न अल्प सूचित प्रश्नों के माध्यम से, 6051 तारांकित प्रश्नों के माध्यम से और 1086 अतारांकित रूप से स्वीकार किये गये. इनमें से 506 के मौखिक उत्तर सभा में सरकार के मंत्रियों के द्वारा दिये गये जबकि शेष 90% से ज्यादा प्रश्नों के लिखित उत्तर भी प्राप्त किये गये. इनमें से 5 विधायकों के लिए प्रवर समिति गठित की गयी. 8 विधायकों पर अब तक राष्ट्रपति की अनुमति प्राप्त हुई है. इस विधानसभा के कार्यकाल में कुल 2 केंद्रीय अधिनियम को अंगीकृत करने का प्रस्ताव भी पारित किया गया है.

इसे भी पढ़ें – #Dhullu तेरे कारण : रोजगार नहीं, एक वक्त खाने को भी मोहताज, अब 25 सितंबर को सपरिवार करेंगे आत्मदाह

शून्यकाल के दौरान प्राप्त हुई 1945 सूचनाएं

5 सालों के विधानसभा सत्र के दौरान कुल 1945 सूचनाएं प्राप्त हुईं, जिनमें से 1960 को स्वीकृत किया गया. इसी तरह कुल 467 गैर सरकारी संकल्प की सूचनाएं भी प्राप्त हुईं और 453 को सभा में वक्ताओं के लिए स्वीकार किया गया. चौथे विधानसभा के कार्यकाल के दौरान कुल 1187 निवेदन की भी सूचनाएं प्राप्त हुईं थीं, जिनमें से 1047 को स्वीकार किया गया.

कुल 499 ध्यानाकर्षण सरकार के वक्ताओं के लिए स्वीकार किये गये, जिनमें से चार पर विशेष समितियों का गठन किया गया. इन 5 साल की अवधि में प्रश्न एवं ध्यानाकर्षण समिति ने 13 और अध्यक्ष के समक्ष कुल 9 प्रतिवेदन प्रति स्थापित किये गये थे.

adv

इसे भी पढ़ें – #Assembly Elections : बोकारो के सीटिंग MLA बिरंची को पूर्व जिला अध्यक्षों से मिल रही है कड़ी टक्कर

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button