JharkhandLead NewsRanchi

12 साल से वित्तीय लाभ के लिए तरस रहे हैं झारखंड के फोर्थ ग्रेड कर्मचारी

सहमति के बाद भी अब तक वित्त विभाग ने आदेश जारी नहीं किया

Ad
advt

Ranchi: सरकारी बाबुओं के खेल में राज्य में 12 साल से मैट्रिक पास चतुर्थवर्गीय कर्मियों को बढ़ा हुआ ग्रेड पे का लाभ नहीं मिल पा रहा है. हालांकि,समूह घ के इन कर्मियों को प्रथम वित्तीय उन्नयन (एसीपी) के 4000-6000,पे- बैंड-1 5200-20200 ग्रेड पे-2400 रुपये देनेके लिए कार्मिक विभागग झारखंड ने 2008 में ही अपनी सहमति प्रदान कर दी थी,लेकिन इस संबंध में वित्त विभाग से आज तक आदेश जारी नहीं हो सका.

आदेश निर्गत नहीं होने की वजह से चतुर्थवर्गीय कर्मचारियों को बढ़ा ग्रेड पे नहीं मिल रहा,आर्थिक नुकसान भी हो रहा है. नया ग्रेड पे नहीं मिलने की वजह से उनका प्रमोशन भी बाधित है. चतुर्थवर्गीय कर्मचारी बार-बार राज्य सरकार से बढ़ा हुआ ग्रेड पे देने की मांग कर रहे हैं,लेकिन उन्हें निराशा ही मिल रही है. ऐसे में मैट्रिक पास 500-600 कर्मियों को बड़ा आर्थिक नुकसान हर माह हो रहा है.

advt

इसे भी पढ़ें : मुजफ्फरपुर में खड़ी बस को ट्रक ने मारी टक्कर, 4 की मौत 10 से अधिक घायल, बारात से लौट रहे थे सभी

वित्त मंत्री ने दिया था आश्वासन

वित्त्त मंत्री रामेश्वर उरांव ने चतुर्थवर्गीय कर्मियों को मार्च माह तक एसीपी का लाभ दिलाने का आश्वासन दिया था,लेकिन अभी तक यह पूरा नहीं हो पाया. इस संबंध में मुख्यमंत्री को भी ज्ञापन सौंपा गया था.
बजट बनाने का दिया था निर्देश पर फिर लटका

advt

पूर्व वित्त सचिव हिमानी पांडेय ने 2021 के शुरूआती माह में चुतर्थवर्गीय कर्मियों को बढ़ा हुआ ग्रेड पे देने के लिए विभागीय पदाधिकारियों को बजटीय प्रावधान तैयार करने का निर्देश दिया था. इस साल के बजट में इसे शामिल भी किया गया. कैबिनेट की स्वकृति के बाद इसे लागू किया जाता, कोरोना के चलते फिर यह लटक गया. फाइलें सचिवालय में ही दबकर रह गयीं.

इसे भी पढ़ें : BIG BREAKING: अब राज्य की सड़कों पर भी कॉमर्शियल वाहनों से टोल टैक्स वसूलने की तैयारी

advt
Adv

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: