न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सिपाही भर्ती के नाम पर फर्जीवाड़ा, होटल में छापेमारी कर चार लोगों को पुलिस ने लिया हिरासत में

411

Lohardaga: सदर थाना क्षेत्र में पुलिस ने छापेमारी कर बुधवार को सिपाही बहाली के नाम पर फर्जीवाड़ा करनेवाले बड़े गिरोह का खुलासा किया. पुलिस ने इस मामले में कारवाई करते हुए चार मुख्य आरोपियों सहित कुल 45 लोगों को हिरासत में लिया है. इसमें पीड़ित सहित फर्जीवाड़ा में शामिल व्यक्ति शामिल हैं. पुलिस सभी से पूछताछ कर रही है. पुलिस ने 23 हजार रुपया भी बरामद किया है.

इसे भी पढ़ें – महिला के साथ विधायक ढ़ुल्लू महतो ने की थी अश्लील हरकत,  HC ने DGP से पूछा क्यों नहीं दर्ज हुई प्राथमिकी

Aqua Spa Salon 5/02/2020

सिपाही बहाली के नाम पर की गई 5.76 लाख रुपये की वसूली

मिली जानकारी के अनुसार हिरासत में लिये गये लोगों से जब पुलिस ने पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि 16 लोगों से सिपाही बहाली के नाम पर 5.76 लाख रुपये की वसूली की गयी थी. सिपाही बहाली के लिए इंटरव्यू के लिए कई मॉडल को बुलाया गया था. इसके अलावा रांची, लोहरदगा, डाल्टेनगंज, हजारीबाग, लातेहार जिले से महिला-पुरुषों को सिपाही बहाली के लिए बुलाया गया था. इस मामले में अभी और कई लोगों के गिरफ्तार होने की उम्मीद की जा रही है. पुलिस ने पूछताछ के आधार पर छापेमारी अभियान भी शुरू कर दिया है.

Related Posts

अर्द्धनिर्मित मकान से मिले दो युवकों के शवों की हुई शिनाख्त, कोयला लदा ट्रक लूटने के बाद की गयी थी हत्या

चान्हो थाना के तरंगा सड़क के किनारे एक अर्द्धनिर्मित मकान से मंगलवार को बरामद दो युवकों के शवों की शिनाख्त हो गयी.मृतक युवकों की पहचान लातेहार जिले के बालूमाथ के बसिया निवासी दीप नारायण महतो और उसके साथी पिंटू उर्फ विजय लोहरा के रूप में हुई है.

इसे भी पढ़ें – IPRD: प्रेस विज्ञप्ति बनाने के लिए पत्रकारों को नियुक्त करने वाली Dreamline Technology कंपनी सैलरी से ही काटती है GST

गुप्त सूचना के आधार पर हुई कार्रवाई

मिली जानकारी के अनुसार लोहरदगा एसपी प्रियदर्शी आलोक को सूचना मिली कि सिपाही बहाली के नाम पर बेरोजगार युवक-युवतियों को लोहरदगा के एक होटल में बुलाया गया है. बुधवार को जैसे ही गिरोह के सदस्य होटल पहुंचे और इंटरव्यू का कार्यक्रम शुरू हुआ, पुलिस ने छापेमारी कर सभी को हिरासत में ले लिया. इसके बाद पुलिस सभी से पूछताछ के बाद मामले की जांच और आगे की कार्रवाई में जुट गयी है. पुलिस की प्रारंभिक कार्रवाई में फर्जीवाड़ा करनेवालों के बैंक खातों को फ्रीज करने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गयी है.

इसे भी पढ़ें – बिना टेंडर के ही श्रम विभाग करा रहा है स्वास्थ्य शिविर का आयोजन, कुर्सी रह रही खाली और बन रहा लाखों का बिल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like