JharkhandLead NewsRanchi

पीपीपी मोड पर चलेंगे चार नये इंजीनियरिंग और आठ पॉलिटेक्निक संस्थान, सीएम लेंगे फैसला

Ranchi : झारखंड में बनाये गये चार नये इंजीनियरिंग और आठ पॉलिटेक्निक संस्थानों को पीपीपी मोड में चलाया जायेगा या इसे सरकार खुद चलायेगी इसका फैसला जल्द किया जायेगा. एनसीटीइ की ओर से चार नये इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन के लिए इसी साल से अनुमति दी गयी है. विभाग से मिली जानकारी के अनुसार कॉलेज संचालन के निर्णय संबंधी फाइल मुख्यमंत्री को भेजी गयी है. 30 जुलाई को इस बाबत निर्णय हो सकती है.

इसे भी पढ़ें :  औरंगाबाद में पंचायत चुनाव के पहले ही मुखिया का बार बालाओं के साथ तमंचे पर डिस्को

ये इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक संस्थान होंगे संचालित

ram janam hospital
Catalyst IAS

विभाग की ओर से जो संस्थान संचालित होने हैं वे चार इंजीनियरिंग कॉलेज और आठ पॉलिटेक्निक कॉलेज हैं. चार इंजीनियरिंग कॉलेजों में रामगढ़ (गोला), जमशेदपुर, कोडरमा और पलामू शामिल हैं. वहीं आठ पॉलिटेक्निक कॉलेज में बगोदर (गिरिडीह), गोड्डा, लोहरदगा, हजारीबाग, चतरा, खूंटी, जामताड़ा और पलामू शामिल हैं. एनसीटीइ की ओर से अभी केवल रामगढ़ (गोला), कोडरमा और पलामू इंजीनियरिंग कॉलेज को ही एडमिशन लेने की जिम्मेदारी दी गयी है. एडमिशन इसी साल से लेना है.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

पीपीपी मोड में चलाने के लिए इनसे हुई बात

उच्च, तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग द्वारा निजी कंपनियों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों (पीएसयू) और देश के प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थानों के साथ मिल कर पीपीपी मोड पर तकनीकी संस्थानों के उन्नयन, संचालन, प्रबंधन और रख-रखाव का प्रयास किया जा रहा है. हालांकि अभी यह फाइनल नहीं हुआ है. कंपनियों से केवल बात ही हुई है. संस्थानों को पीपीपी मोड पर देने के लिए टाटा स्टील लिमिटेड, जिंदल स्टील प्राइवेट लिमिटेड, सीसीएल, ओरिएन एडुटेक, ओपी जिंदल, सेंटम लर्निंग, टीम लीज, सेंचुरियन यूनिवर्सिटी आदि से भी बात हुई थी. इन संस्थानों के पठन-पाठन पर टेक्निकल यूनिवर्सिटी नियंत्रण रखेगी.

इसे भी पढ़ें : टीम इंडिया को बड़ा झटकाः श्रीलंका में टी-20 मुकाबले से सूर्य, इशान, हार्दिक समेत छह खिलाड़ी बाहर

Related Articles

Back to top button