न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सिंदरी थाने की एसपीओ रजनी की मौत के मामले में चार पर हत्या का मामला दर्ज

1,418

Dhanbad: सिंदरी थाने की एसपीओ 26 वर्षीय रजनी मिश्रा की इलाज के दौरान हुई मौत के मामले में सिंदरी थाने की पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है. सिंदरी के रोहित मंडल, मृतका के पति अजीत कुमार मिश्रा और अजीत के दो छोटे भाइयों को आरोपित बनाया गया है. डीएसपी प्रमोद कुमार केसरी ने बताया कि मृतका रजनी के पिता कुलेश्वर प्रसाद की ओर से दर्ज कराई गई शिकायत के आधार पर हत्या का मामला दर्ज किया गया है. डीएसपी ने कहा कि पुलिस रजनी की संदिग्ध मौत से जुड़े हर मामले की जांच करेगी.

इसे भी पढ़ें – रांची एयरपोर्ट में 19 लाख रुपए बरामद, बाथरूम में रुपये रखनेवाला शख्स मुंबई में पकड़ा गया

संदिग्ध परिस्थिति में झुलस कर हुई रजनी की मौत

सिंदरी के रोहड़ाबांध स्थित नार्थ हास्टल में रजनी 13 अप्रैल की रात में संदिग्ध परिस्थिति में झुलस गई थी. झुलसी हालत में रजनी को रोहित मंडल ने रात के लगभग 11 बजे आसनसोल स्थित सरकारी हास्पिटल में भर्ती करवाया था. यहां इलाज के दौरान 18 अप्रैल को रजनी की मौत हो गई थी. शनिवार को मृतका रजनी के पिता के सिदरी थाना पहुंचने पर पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की. 13 अप्रैल से लेकर 18 अप्रैल तक रजनी के झुलसने की भनक तक पुलिस को नहीं लगी. मामला रजनी की मौत के बाद 18 अप्रैल को सामने आया. शनिवार को मामले में डीएसपी, थाना प्रभारी सहित अन्य पुलिस अधिकारियों ने नॉर्थ हास्टल स्थित रजनी के कमरे की तलाशी ली. बाथरूम से जले हुए कपड़े का छोटा सा टुकड़ा मिला. लैपटॉप व गहने भी बरामद किये गये हैं.

इसे भी पढ़ें – रांची पुलिस ने 110 बोरा डोडा सहित एक ट्रक, एक डंपर और एक स्कूटी जब्त किया, तस्कर भागने में रहे सफल

hotlips top

कई सवाल

पुलिस ने बताया कि जांच के लिए एक टीम को आसनसोल भेजा जा रहा है. मामले में रोहित को हत्या का आरोपित बनाए जाने पर कुछ लोगों ने आश्चर्य जताया. ऐसे लोगों ने कहा कि रोहित ने रजनी को झुलसी हालत में आसनसोल पहुंचा कर हास्पिटल में भर्ती कराया. रजनी के माता-पिता को घटना की जानकारी दी. कुछ लोगों ने सवाल उठाया कि आखिर सिंदरी पुलिस थाने से महज दो सौ गज दूरी पर रह रही रजनी के झुलसने की खबर पुलिस को कैसे नहीं लगी? पुलिस ने पांच दिनों तक अपने एफपीओ की सुध क्यों नहीं ली?  शरीर में आग लगने से रजनी ने चीख-पुकार नहीं की? आसपास के घरों में रह रहे लोगों को कैसे भनक तक नहीं लगी?

इसे भी पढ़ें- चतरा :  वोट डालाे, मिलेगी पेट्रोल-डीजल पर 50 पैसे की छूट :  पेट्रोल पंप डीलर एसोसिएशन   

कई सफेदपोशों के भी नाम!

रजनी को आसनसोल ले जाने से पहले रोहित ने इसकी जानकारी पुलिस को क्यों नहीं दी थी?  रजनी की मौत मामले में रहस्य अभी भी बना हुआ है. कुछ सफेदपोशों के नाम भी मामले में जुड़े होने की बात खास चर्चा में है. पुलिस के एक एएसआई की संलिप्तता की बात भी चर्चा में है. भाजपा के पूर्व नगर अध्यक्ष ने भी रोहित के साथ रजनी को अस्पताल पहुंचाया था, यह बात भी सामने आयी है. बता दें कि रोहित की शादी बीते आठ मार्च को हुई है.

इसे भी पढ़ें – पाक के एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिरानेवाले विंग कमांडर अभिनंदन के लिए ‘वीर चक्र’ की सिफारिश

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like