Crime NewsGiridih

गिरिडीह के पचम्बा के तेलोडीह में पथराव, धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने के मामले में  चार गिरफ्तार

Giridih: पचम्बा थाना के तेलोडीह में मंगलवार दोपहर हुई घटना में एक समुदाय के लोगो के द्वारा जमकर पथराव किए जाने का मामला सामने आया है. मामले में पुलिस की ओर से तनावपूर्ण स्थिति को संभालने के लाठी चार्ज किया गया. इस संबंध में जिले के एसपी अमित रेनू ने लोगों से अफवाह पर ध्यान नहीं देने की अपील की है. उन्होंने इस बात से भी इंकार किया है कि स्थिति संभालने के लिए पुलिस को अपनी ओर से कोई फायरिंग करनी पड़ी है. एसपी ने कहा की कुछ युवकों की ओर से हुई इस घटना में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए चार आरोपियों को धर दबोचा है और उनसे अन्य आरोपियों को लेकर पूछताछ की जा रही है.

इसे भी पढ़ें: पलामू में सरकारी राशन के दुकानदार की गोली मार कर हत्या

सदर विधायक और गांडेय विधायक ने ली जानकारी

इधर घटना की जानकारी मिलने के बाद सदर विधायक सुदिव्य कुमार सोनू और गांडेय विधायक स्रफराज अहमद भी मौके पर पहुंचे और हालात का जायजा लिया. इससे पहले डीसी नमन प्रियेश लकड़ा, सदर एसडीपीओ अनिल सिंह, डीएसपी संजय राणा और साइबर डीएसपी संदीप सुमन और नगर थाना प्रभारी राम नारायण चौधरी भी पुलिस जवानों के साथ तेलोडीह पहुंचे और तनावपूर्ण स्थिति पर काबू पाने की कोशिश की.इस दौरान पुलिस की ओर से काफी संख्या में अर्धसैनिक बलों को भी मौके पर तैनात किया गया है.

क्या था मामला
मिली जानकारी के अनुसार तेलोडीह में मंगलवार दोपहर को एक समुदाय की भावना को ठेस पहुंचाने के लिए ही कुछ शरारती तत्वों द्वारा प्रयास किया गया.एक समुदाय के धार्मिक स्थल और उसके भावना को ठेस पहुंचाने का प्रयास हुआ.मामले की जानकारी इस दौरान जानकारी मिलने के बाद तेलोडीह के मुखिया सब्बीर आलम ने किसी तरह आरोपी युवक को भीड़ से बचाने का प्रयास किया तो भीड़ ने मुखिया को भी घेर लिया. इसी बीच पचम्बा से दो और लोग बाइक से दोनो युवक को बचाने पहुंचे तो महोल बिगड़ा और स्थानीय आक्रोशित लोगों ने उन दोनो के साथ जमकर मारपीट किया. लेकिन वक्त पर सदर एसडीएम विषालदीप खालको अपने बॉडी गार्ड के साथ पहुंचे और हालात देखते हुए आक्रोशित लोगो को वहा से भागने के प्रयास किया. लेकिन इसके बाद भी लोग का गुस्सा शांत नहीं हुआ और मौके पर जमा लोगों की भीड़ ने उधर से गुजर रहे एक चार पहिया गाड़ी का शिसा तोड़ दिया. इसके बाद ही माहोल खराब हुआ, और अफरा तफरी मची। इसके बाद सदर एसडीपीओ अनिल सिंह और नगर थाना प्रभारी राम नारायण चौधरी काफी पुलिस जवानों के साथ घटनास्थल पहुंचे और लोगो को वहा से भागना शुरू किया. लेकिन स्थानीय लोगो ने अचानक पथराव शुरू कर दिया तो इसके बाद पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा.

Related Articles

Back to top button