JharkhandJharkhand Vidhansabha ElectionLead NewsNEWSRanchiTOP SLIDERTop Story

झारखंड विधानसभा का स्थापना दिवस कल, माले विधायक बिनोद सिंह होंगे उत्कृष्ट विधायक सम्मान से सम्मानित

Ranchi : झारखंड विधानसभा का स्थापना दिवस समारोह मंगलवार को है. विधानसभा के 22वें स्थापना दिवस के मौके पर तीन दिनों तक कई कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे. 22 नवंबर को विधानसभा के स्थापना दिवस समारोह के मौके पर उत्कृष्ट विधायक के रूप में चयनित विनोद सिंह और सभा के उत्कृष्ट कर्मियों को सम्मानित किया जायेगा. कार्यक्रम में राज्यपाल रमेश बैस उदघाटनकर्ता होंगे. वहीं मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद होंगे. समारोह के पहले दिन देश की सीमा पर और नक्सली हिंसा में शहीद हुए राज्य के जवानों के आश्रित परिवार को सम्मानित किया जाएगा. साथ ही, राज्य में इस साल 10वीं और 12वीं के टॉपर्स स्टूडेंट्स को भी सम्मानित किया जाएगा. इसके अलावा विधानसभा की त्रैमासिक पत्रिका उड़ान का भी लोकार्पण होगा. स्पीकर रबींद्रनाथ महतो  द्वारा लिखित पुस्तक संसदीय दायित्व के तीन साल का भी लोकार्पण किया जाएगा. 23 नवंबर से सांस्कृतिक सहित अन्य कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे. इसी कड़ी में 23 नवंबर को ही विधानसभा द्वारा केंद्र-राज्य संबंध पर राष्ट्रीय सम्मेलन आयोजित किया जायेगा. नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ स्टडी एंड रिसर्च इन लॉ, रांची और पीआरएस लेजिस्लेटिव रिसर्च, पीआरएस द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित सम्मेलन में देशभर के विधिक व संसदीय विशेषज्ञ पहुंचेंगे. देश में पहली बार किसी विधानसभा द्वारा महत्वपूर्ण विषय पर अकादमिक पहल हो रही है़. इसमें केंद्र व राज्य के संबंधों की कानूनी बारीकियों पर चर्चा होगी. सम्मेलन में भारत की संघीय संरचना, केंद्र-राज्य संबंधों की वर्तमान स्थिति पर विचार-विमर्श किया जायेगा.

दस पहुलओं पर होगी चर्चा, खाका तैयार

सम्मेलन के लिए दस महत्वपूर्ण पहुलओं पर चर्चा का खाका तैयार किया गया है. इसमें केंद्र और राज्यों के बीच विधायी शक्तियों का वितरण, भारत में राजकोषीय संघवाद, अखिल भारतीय सेवाएं और केंद्र राज्य संबंध, संघवाद पर न्यायपालिका, भारतीय संघवाद के साथ राज्यपाल की भूमिका और कार्य, संघीय ढांचे में केंद्रीय जांच एजेंसियों की भूमिका, भारत में राजकोषीय और प्रशासनिक संघवाद के साथ-साथ अंतर-राज्य परिषदों का कामकाज, स्थानीय स्वशासन और भारतीय संघवाद, केंद्र-राज्य संबंध और सुशासन पर इसका प्रभाव, केंद्र-राज्य संबंध और कोविड-19 महामारी और भारत में सहकारी संघवाद विषय पर चर्चा की जायेगी.

23 नवम्बर को कुमार विश्वास का काव्य पाठ

23 नवंबर को देश में मूर्धन्य कवि डॉ कुमार विश्वास और उनके साथियों का काव्य पाठ होगा. इसके साथ ही स्थानीय कलाकारों द्वारा प्रस्तुति दी जायेगी़.  24 नवंबर को छात्र सांसद आयोजित किया जायेगा. इसमें राज्यभर के विभिन्न विश्वविद्यालय से चयनित छात्र सड़क सुरक्षा और जागरूकता विषय पर छाया सत्र चलायेंगे.

अब तक इन लोगों को मिला है सम्मान

बिरसा मुंडा उत्कृष्ट विधायक सम्मान पहली बार 2001 में विशेश्वर खान को दिया गया था. इसके बाद 2002 से क्रमवार रूप से हेमलाल मुर्मू, राजेंद्र प्रसाद सिंह, लोकनाथ महतो, अन्नपूर्णा देवी, राधा कृष्ण किशोर, पशुपतिनाथ सिंह, इंदर सिंह नामधारी, जनार्दन पासवान, माधव लाल सिंह, रघुवर दास, लोबिन हेम्ब्रम, प्रदीप यादव, स्टीफन मरांडी, विमला प्रधान, मेनका सरदार, नलिन सोरेन और रामचंद्र चंद्रवंशी  को यह सम्मान मिल चुका है.

इसे भी पढ़ें: Kantatoli Flyover Construction: लगाया जा रहा है साइन बोर्ड, जानें क्यों

Related Articles

Back to top button