न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की दो टूक, कहा – विकास में बाधा हैं नौकरशाह

आम आदमी पार्टी ने कहा- 'यही है दिल्ली में टकराव की वजह'

842

News Wing, New Delhi : पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी ने नौकरशाहों को देश के विकास में सबसे बड़ी बाधा कहा है. आईआईएम, अहमदाबाद में शनिवार को गेस्ट फैकल्टी के तौर पर श्री मुखर्जी ने भारत के विकास और लोकनीति विषय पर संबोधन किया. उन्होंने कहा कि विकास में सबसे बड़ी बाधा नौकरशाह हैं. वे विकास में अड़ंगा लगाते हैं और उसे काम नहीं करने के बहाने तलाश करते हैं. इसे तत्काल सुधारना जरूरी है.

श्री मुखर्जी ने कहा कि मेरा आशय यह कतई नहीं कि नौकरशाही ने कोई योगदान नहीं किया है. लेकिन इसके साथ ही यह भी ध्यान में रखना होगा कि दुनिया तेजी से बदल रही है. हमें भी उसके साथ बदलना होगा. उन्होंने सिविल सर्वेंट्स की चर्चा करते हुए कहा कि इनके द्वारा बाधा खड़ी करने के रास्ते तलाशे जाते हैं, काम नहीं करना पड़े और बहाने कैसे बनाए जायें, ऐसी कोशिश होती है.

इसे भी पढ़ें – कार्यकर्ताओं से बोले दिग्विजय सिंह, सौ बार चेक करें, बटन दबाया हाथ पर, पर्ची निकली फूल की तो…

hosp3

‘नौकरशाही सिस्टम ने बंद कोठरी में सोच की प्रवृति को बढ़ावा दिया है ‘

गवर्नेंस की एक अन्य समस्या की चर्चा करते हुए श्री मुखर्जी ने कहा कि अलग-थलग या अलगाव में रहकर काम की प्रवृति के कारण भी जटिलता आती है. हमारे देश के नौकरशाही सिस्टम ने बंद कोठरी में सोच की प्रवृति को बढ़ावा दिया है. श्री मुखर्जी ने कहा कि हमारी देश में वास्तविक कार्यपालिका का काम कैबिनेट पर है, जो एक सामूहिक प्रतिनिधि निकाय है. यह संसद के प्रति जवाबदेह है, जो खुद एक सामूहिक प्रतिनिधि निकाय है और जनता के प्रति जवाबदेह है. श्री मुखर्जी ने देश में व्यापक विकेंद्रीकरण पर जोर दिया. श्री मुखर्जी के इस वक्तव्य को आम आदमी पार्टी ने हाथोंहाथ लिया है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसे ट्वीट करके देश में नौकरशाही की भूमिका पर बहस की गुंजाइश पैदा कर दी है.

इसे भी पढ़ें – अलविदा एलिक पदमसी,   रिचर्ड एडिनबरो की गांधी के जिन्ना नहीं रहे…

उल्लेखनीय है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी के साथ नौकरशाही के विवाद खुलकर सामने आते रहे हैं. इस क्रम में दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश के साथ कथित मारपीट का मामला चर्चा में है. शनिवार को ही अंशु प्रकाश का तबादला करके दूरसंचार विभाग में भेज दिया गया है. दिल्ली विधानसभा की विशेषाधिकार समिति में भी अंशु प्रकाश के खिलाफ मामला चल रहा है.

इसे भी पढ़ें – अयोध्या में राम मंदिर जल्द बने, काशी और मथुरा पर भी मुस्लिम संगठन दावा छोड़ें : स्वामी

ऐसे में पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के वक्तव्य ने आम आदमी पार्टी को अच्छा अवसर दिया है. पार्टी के बुराड़ी विधायक संजीव झा ने ट्वीट किया-

“प्रणव दा ने सही कहा है कि विकास में सबसे बड़ी बाधा नौकरशाह हैं. दिल्ली का दर्द यही है. AAP विकास चाहती है, नौकरशाह अड़ंगा लगाते हैं. यही कारण है टकराव का. नौकरशाही को सकारात्मक भूमिका में लाना जरूरी.”

दूसरी ओर, श्री मुखर्जी के संबोधन पर अब तक आईएएस तथा आईपीएस एसोशिएशन की कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: