JharkhandRanchi

दलित परिवारों को न्याय दिलाने की गुहार लेकर राज्यपाल से मिले पूर्व मंत्री अमर बाउरी

Ranchi: चंदनकियारी विधायक सह पूर्व मंत्री अमर कुमार बाउरी ने चाईबासा कांड के पीड़ित परिवारों के साथ राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात कर राज्य के दलित परिवारों को न्याय दिलाने की गुहार लगाई. इस दौरान उन्होंने राज्यपाल को राज्य में हो रहे दलितों के ऊपर अत्याचार की घटनाओं से अवगत करवाया.

उन्होंने बताया कि किस तरह से झारखंड में दलितों की जमीन को लूटा जा रहा है, काम नहीं करने पर उनके साथ मारपीट की जाती है, कहीं भूख से मौत हो रही है, कहीं ठंड से दलित परिवार की मौत हो रही है. इन सभी विषयों पर राज्य सरकार चुप्पी साधे हुए हैं.

उन्होंने ज्ञापन के माध्यम से राज्यपाल से आग्रह किया कि वे इन सभी मामले पर हस्तक्षेप कर केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों से राज्य के दलित परिवारों को न्याय दिलवाने के प्रति पहल करें.

advt

इसे भी पढ़ें :अडानी ने चार दिन में गंवाये 1 लाख करोड़ से अधिक, अमीरों की लिस्ट में भी नीचे खिसके

लाठी-डंडे, बैट, ईट पत्थर से मारपीट की गई

उन्होंने बताया कि राज्य के कई ऐसे जिले हैं जहां दलितों के साथ अत्याचार की घटनाएं आम हो रही है. चाईबासा की घटना की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा की एक विशेष समुदाय के लोगों ने दलित परिवार को उनके घर के शौचालय को साफ नहीं करने जाने के खिलाफ उनके साथ लाठी-डंडे, बैट, ईट पत्थर से मारपीट की. जिसमें करीब 8 लोग बुरी तरह से घायल हो गए. घायलों में महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे.

adv

गलत कागजात दिखाकर हड़प ली जमीन

वहीं उन्होंने बताया कि साहेबगंज में मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि पंकज मिश्रा ने एक दलित परिवार के 16 बीघा जमीन गलत कागजात प्रस्तुत कर हड़प लिया और वहां अपने पद का उपयोग करते हुए अपना आलीशान बंगला बनवा रहे हैं.

जब इसकी शिकायत जिला प्रशासन से की जाती है तो जिला प्रशासन चुप्पी साध लेता है और किसी प्रकार की कोई कार्रवाई पीड़ितों को न्याय दिलवाने के लिए नहीं करते है.

इसे भी पढ़ें :तीन अनुमंडल पदाधकारियों का तबादला, जानिए कौन कहां से कहां गये

मारपीट कर प्रधानमंत्री आवास भी कब्जा कर लिया

जामताड़ा की घटना की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि जामताड़ा में महादलित तुरी परिवार के साथ उनके ही गांव के विशेष समुदाय के लोगों ने मारपीट कर उनका प्रधानमंत्री आवास, उनकी जमीन, उनका घर पर कब्जा कर लिया. वह परिवार करीब डेढ़ महीने से अपने घर से बेघर सड़कों पर रहने को मजबूर है.

ऐसे सभी घटनाओं की जानकारी देने के बाद उन्होंने राज्यपाल से इन सभी विषयों पर उचित जांच करवा कर कार्रवाई करवाने की मांग की.

मुलाकात करने वालों में शम्भू हाजरा, जिलाध्यक्ष, भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा, चाईबासा, सरस्वती करुआ (पीड़िता), पूनम करुआ(पीड़िता), सोमनाथ सिंह, भाजपा जिलाध्यक्ष जामताड़ा, सुनीला देवी(पीड़िता), रधिया देवी(पीड़िता), कालीपद तुरी(पीड़ित) शामिल थे.

इसे भी पढ़ें :जानिए उप राज्यपाल मनोज सिन्हा के साथ आखिर किस मुद्दे पर अमित शाह ने की चर्चा!

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: