BokaroJharkhandLead NewsRanchi

नहीं रहे पूर्व मंत्री अकलू राम महतो

बोकारो जेनरल हॉस्पिटल में ली आखिरी सांस, उनका दाह संस्कार चौरा में किया जायेगा

Bokaro : पूर्व मंत्री और बोकारो के पूर्व विधायक अकलू राम महतो नहीं रहे. उनकी किडनियां फेल हो गयी थीं. शुक्रवार सुबह चार बजे उन्होंने बोकारो जेनरल हॉस्पिटल में आखिरी सांस ली. एक दौर था, जब महतो बिहार-झारखंड की राजनीति में कद्दावर नेता माने जाते थे. झारखंड में वह एक वक्त राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के सबसे विश्वस्त और करीबी माने जाते थे. उन्होंने झारखंड प्रदेश राजद अध्यक्ष की कमान भी संभाली थी.

इसे भी पढ़ें : पलामू : कार ने खड़े ट्रक में मारी टक्कर, एक ही परिवार के चार की मौत

बोकारो, धनबाद, गिरिडीह और हजारीबाग में वह खासे लोकप्रिय थे

SIP abacus

बोकारो, धनबाद, गिरिडीह और हजारीबाग में वह खासे लोकप्रिय थे. ट्रेड यूनियन लीडर्स के तौर पर भी उनकी बड़ी पहचान थी. बताया गया कि अकलू राम महतो को तीन दिन पहले बोकारो जेनरल हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था. उनका डायलिसिस करने की तैयारी थी. वह पहले से ही डायबिटीज और बीपी के पेशेंट थे. उनका पार्थिव शरीर पहले उनके जन्म भूमि चीताही गांव ले जाया जा रहा है, उसके बाद उनका दाह संस्कार चौरा में किया जाएगा.

Sanjeevani
MDLM

अकलू राम महतो के करीबी रहे भुवनेश्वर पटेल ने कहा कि स्वर्गीय महतो संपूर्ण जीवन गरीब- शोषित, वंचित और अकलियत वर्गो के लिए संघर्ष करते रहे. मजदूरों के अधिकारों को लेकर भी उन्होंने लंबा आंदोलन किया.

इसे भी पढ़ें : एंटी नक्सल ऑपरेशन का हाल जानने मधुबन व पीरटांड़ पहुंचे IG अभियान, CRPF के IG व DIG

Related Articles

Back to top button