न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबाद के पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह हत्याकांड की कोर्ट में गवाही शुरू

एकलव्य ने राजनीतिक प्रतिद्वंदिता को बताया हत्या का कारण

134

Dhanbad : ‘राजनीतिक प्रतिद्वंदिता के कारण मेरे भाई नीरज सिंह की हत्या कराई गई’. इन्ही शब्दों के साथ सोमवार को धनबाद के डिप्टी मेयर एकलव्य सिंह ने धनबाद के पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह समेत चार लोगों की हत्याकांड मामले में धनबाद न्यायालय में अपनी गवाही कलमबद्ध कराई.

तीन गवाहों ने अपनी गवाही कलमबद्ध कराये

लगभग 22 महीने बाद नीरज सिंह हत्याकांड मामले में ट्रायल शुरू हो चुका है. सोमवार को धनबाद जिला एवं सत्र न्यायाधीश आलोक कुमार की अदालत में नीरज हत्याकांड मामले में तीन गवाहों ने अपनी गवाही कलमबद्ध कराये. राजू सिंह,अनूप कुमार उर्फ अनूप पासवान और धनबाद के डिप्टी मेयर एकलव्य सिंह ने धनबाद के पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह हत्याकांड में सोमवार को अपनी गवाही दी.

hosp3

झरिया विधायक संजीव सिंह भी सशरीर उपस्थित रहेंगे

वैसे सोमवार को एकलव्य सिंह की गवाही पूरी नहीं हो सकी. मंगलवार को एक बार फिर नीरज सिंह समेत चार लोगों की हत्याकांड मामले में डिप्टी मेयर एकलव्य सिंह अपनी पूरी गवाही अदालत में कलमबद्ध कराएंगे. साथ ही इस मामले में आरोपी झरिया विधायक संजीव सिंह भी सशरीर उपस्थित रहेंगे. माननीय सर्वोच्च न्यायलय द्वारा इस मामले के आरोपी पिंटू सिंह की जमानत याचिका खारिज करने कें बाद निचली आदलत को यह आदेश दिया था कि, इस मामले की जल्द सुनवाई की जाए. जिसके बाद सोमवार से लगातार तीन दिनों तक गवाही शुरू की जाएगी. पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह समेत चार लोगों की हत्या मामले में गवाही के दौरान झरिया के विधायक संजीव सिंह समेत सभी आरोपियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये पेश किया गया.

21 मार्च 2017 हुई थी नीरज सिंह समेत चार लोगों की हत्‍या 

बता दें कि 21 मार्च 2017 को स्टील गेट में कुंती निवास के सामने चार शूटरों ने सैकड़ों लोगों की भीड़ के सामने नीरज सिंह, उनके पीए अशोक यादव, चालक घल्टू महतो और अंगरक्षक मुन्ना तिवारी को गोलियों से भून दिया था. नीरज अपने सहयोगियों के साथ झरिया स्थित कार्यालय से अपने आवास रघुकुल जा रहे थे. हत्या के 22 महीने बाद इस केस में सोमवार से ट्रायल शुरू चुका है. इस मामले में पहले ही आरोपियों को हाइकोर्ट से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक झटका लग चुका है. पुलिस ने पहले चार्जशीट में कुल 49 लोगों को गवाह बनाया है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: