न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पूर्व CJI ने दी लिटिगेशन पॉलिसी बनाने की सलाह, मॉब लिंचिंग को बताया कानून की विफलता

मॉब लिंचिंग कानून एवं व्यवस्था की पूर्ण विफलता

176

NewDelhi: देश के पूर्व प्रधान न्यायाधीश टी एस ठाकुर ने उच्चतम न्यायालय में लाए जाने वाले मुकदमों के लिए सरकार के एक लिटिगेशन पॉलिसी बनाने की हिमायत की है. न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) ठाकुर ने कहा कि किसी मामले को आगे बढ़ाना है या नहीं,  इस पर कोई अधिकारी वस्तुनिष्ठ निर्णय लेने से डरता है क्योंकि आगे चल कर इसके लिए उससे पूछताछ हो सकती है.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड के पलामू में खुलेगा केंद्रीय विद्यालय, केंद्र ने देश में 13 केवी खोलने को दी मंजूरी

उन्होंने पूर्व कानून मंत्री एम वीरप्पा मोइली की किताब ‘द व्हील ऑफ जस्टिस’ के विमोचन के दौरान ये बातें कही.  पूर्व सीजेआई टीएस ठाकुर ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में लाये जानेवाले केस के लिए सरकार के एक लिटिगेशन पॉलिसी बनाने की नसीहत दी.

hosp3

मॉब लिचिंग कानून एवं व्यवस्था की पूर्ण विफलता

पूर्व न्यायाधीश टीएस ठाकुर ने कहा कि भीड़ द्वारा पीट-पीट कर हत्या करना कानून एवं व्यवस्था की पूर्ण विफलता है.  न्यायमूर्ति ठाकुर ने कहा कि न्यायपालिका ही देश में कानून का शासन सुनिश्चित करती है और यह भी सुनिश्चित करती है कि कोई भी निरंकुश व्यक्ति इस पर शासन नहीं कर पाए.

इसे भी पढ़ेंःवाई-फाई के नाम पर कहीं कमीशनखोरी का खेल तो नहीं खेल रहा उच्च शिक्षा विभाग

पूर्व कानून मंत्री वीरप्पा मोइली की किताब ‘द व्हील ऑफ जस्टिस’ के विमोचन के मौके पर न्यायमूर्ति ठाकुर ने कहा कि अपराध करने वाले व्यक्ति पर कानून के मुताबिक मुकदमा चलना चाहिए. उन्होंने कहा कि मुंबई आतंकी हमले के दोषी अजमल कसाब को भी उच्चतम न्यायालय तक निष्पक्ष तरीके से सुनवाई का मौका मिला. उसे भीड़ द्वारा पीट-पीट कर मार देने के लिए नहीं छोड़ दिया गया. पूर्व प्रधान न्यायाधीश ने कहा कि भीड़ द्वारा पीट-पीट कर हत्या करना कानून एवं व्यवस्था की पूरी तरह से नाकामी है.

इसे भी पढ़ेंःको-ऑपरेटिव बैंक में करोड़ों के घोटाले के मामले में स्पेशल ऑडिट की अनुशंसा के बाद PIL

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: