Sports

पूर्व कप्तान शांता रंगास्वामी ने CAC और  ICA से दिया इस्तीफा, BCCI  ने भेजा था नोटिस

New Delhi: पूर्व भारतीय कप्तान शांता रंगास्वामी ने बीसीसीआई के आचरण अधिकारी डीके जैन द्वारा हितों के टकराव का नोटिस भेजे जाने के बाद, क्रिकेट सलाहकार समिति (CAC) सदस्य और भारतीय क्रिकेटर संघ (ICA) के निदेशक पद से इस्तीफा दे दिया.

रंगास्वामी ने पीटीआई से कहा कि मेरी कुछ अन्य योजनायें हैं, इसलिए मैंने आगे बढ़ने का फैसला किया. सीएससी की वैसे भी एक साल में या दो साल में एक बार ही बैठक होती है, इसलिए मुझे टकराव की बात समझ नहीं आती.

इसे भी पढ़ें –#BajrangDal का फरमान – गरबा में गैर-हिंदु करते हैं महिलाओं को परेशान, आधार कार्ड जांचकर रोकें एंट्री

‘सीएसी समिति में होना सम्मान की बात थी’

उन्होंने कहा कि सीएसी समिति में होना सम्मान की बात थी. मौजूदा परिस्थितियों में मुझे लगता है कि किसी भी प्रशासनिक भूमिका के लिए उपयुक्त पूर्व क्रिकेटर को ढूंढना कठिन होगा. आईसीए से तो मैं चुनाव होने से पहले ही इस्तीफा दे देती, इसलिए यह समय की बात थी.

रंगास्वामी के अलावा सीएसी में कपिल देव और अंशुमन गायकवाड़ शामिल थे. रंगास्वामी ने अपना इस्तीफा रविवार को सुबह प्रशासकों की समिति (COA) और बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी को ईमेल के जरिये भेजा.

इसे भी पढ़ें – #NASA  ने पहली बार देखा, सूर्य से 60 लाख गुना वजनी #BlackHole ने तारे को तोड़ दिया

डीके जैन ने शनिवार को सीएसी को भेजा था नोटिस 

बीसीसीआई के आचरण अधिकारी डीके जैन ने शनिवार को सीएसी को नोटिस भेजा. और मौजूदा भारतीय कोच चुनने वाले पूर्व क्रिकेटरों से उनके खिलाफ लगे हितों के टकराव के आरोपों का जवाब 10 अक्टूबर तक देने को कहा था.

मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ के आजीवन सदस्य संजीव गुप्ता ने इन तीनों के खिलाफ शिकायत दायर की थी. जिन्होंने अगस्त में मुख्य कोच के पद पर रवि शास्त्री को चुना था. बीसीसीआई के संविधान के अनुसार, कोई भी व्यक्ति एक समय में एक से ज्यादा पद पर काबिज नहीं रह सकता. शिकायत में गुप्ता ने दावा किया था कि सीएसी के सदस्य कई क्रिकेटिया भूमिकायें निभा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – पलामू : वायरल #Audio में धमकी देते सुनाई दे रहे पांकी #MLA, विरोधी हुए #Active

 

Related Articles

Back to top button