न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

BSF के पूर्व जवान को गोली मारकर 4 लाख रुपये लूटे

बकाये की वसूली कर बिहार से लौट रहे थे रामजी यादव

375

Sahibganj: साहेबगंज के मुफस्सिल थाना क्षेत्र के किशन प्रसाद के विजयपुल के पास बीएसएफ के एक पूर्व जवान रामजी यादव (46 वर्ष) को अपराधियों ने पहले गोली मारी, फिर उनसे 4 लाख रुपये लूटकर फरार हो गये. यह घटना बीती रात करीब 11 बजे की है. लूट की इस घटना को अंजाम देने के लिए अपराधी पहले से ही घात लगाकर बैठे थे.

कैसे हुई घटना

बीएसएफ के पूर्व जवान रामजी यादव रात के करीब 11 बजे अपने घर जा रहे थे. जब वह विजय पुल के पास पहुंचे, वहां पहले से घात लगाये अपराधियों ने उन्‍हें रोका और उनपर बंदूक तान दी. बंदूक की नोक पर उनसे रुपयों से भरा थैला छीन लिया. जब वह जाने लगे तो अपराधियों ने उनपर फायरिंग कर दी. गोली उनकी आंख के पास लगी. फायरिंग की आवाज सुनकर आसपास ग्रामीण घटनास्‍थल पर पहुंचे. लेकिन, तब तक अपराधी लूट को अंजाम देकर फरार हो चुके थे. गांव वालों ने घायल रामजी को उठाया और उन्‍हें घर पहुंचाया. परिवार के लोग उन्‍हें सदर अस्‍पताल पहुंचाया. रामजी यादव की गंभीर स्थिति को देखकर सदर अस्‍पताल के डॉक्‍टर ने बेहतर इलाज के लिए कोलकाता रेफर कर दिया. हालांकि उनके परिजन तुरंत उन्‍हें कोलकाता ले गये, लेकिन उनकी स्थिति नाजुक बनी हुई है.

hosp3

बिहार के मनिहारी गये थे बकाये की वसूली करने

घायल रामजी यादव की पत्‍नी आशा देवी ने बताया कि पति सेना से रिटायर होने के बाद पत्‍थर के बिजनेस कर रहे थे. वह बिहार के मनिहारी बकाये की वसूली के लिए गये हुए थे. उनसे रात के करीब 8 बजे बात हुई थी. तब उन्‍होंने कहा था कि आने में 10 बज जायेगी. उन्‍होंने बताया था कि तीन लाख रुपये की वसूली हो गयी है. एक लाख रुपये और आ रहे हैं. वह आते ही सारे पैसे लेकर आ जाऊंगा. पर समय से मेरे पति नहीं आये. रात करीब साढ़े 11 बजे किशन प्रसाद गांव के ग्रामीण मेरे घायल पति को लेकर पहुंचे. तब हमने इसकी सूचना पुलिस और अस्‍पताल को दी.

मुफस्सिल थाना प्रभारी राम हरीश निराला ने बताया कि‍ सुबह को घटना स्थल से एक चश्‍मा बरामद हुआ है. यह घायल रामजी यादव का ही है. इस मामले से जुड़े अपराधियों की शिनाख्‍त हो गयी है. बहुत जल्‍द उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया जायेगा.

इसे भी पढ़ें: नक्सलियों के मंसूबे पर फिरा पानी, भारी संख्या में हथियार और विस्फोटक बरामद

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: