न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बीजेपी और आजसू की औपचारिक घोषणा : लोकसभा चुनाव साथ लड़ेंगे

सीएनटी-एसपीटी मुद्दे पर सरकार ने अपने विचार बदले : सुदेश महतो

414

Ranchi : भाजपा प्रदेश कार्यालय में आजसू और भाजपा ने संयुक्त रूप से प्रेसवार्ता आयोजित कर एनडीए गठबंधन के तहत चुनाव लड़ने की औपचारिक ऐलान किया. भाजपा अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा ने कहा कि भाजपा और आजसू साथ मिलकर केंद्र में बहुमत की सरकार बनाने में सहयोग करेंगे. भाजपा 13 सीटों पर चुनाव लड़ेगी और एक सीट पर आजसू चुनाव लड़ेगी. हमारी सरकार ने साढ़े चार वर्षों में जितना काम किया है, उससे भी बेहतर काम इस बार हमारी आने वाली सरकार करेगी. एनडीए के नेता और कार्यकर्ता चाहते हैं कि देश में पूर्ण बहुमत की सरकार बने.

वहीं आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो ने कहा कि लोकसभा चुनाव संयुक्त रूप से लड़कर देश की मजबूत सरकार मोदीजी के नेतृत्व में देंगे. हम प्रदेश से लेकर बूथ स्तर तक संयुक्त अभियान में बड़ी जीत को पुर्नस्थापित करने की दिशा में काम करेंगे. देश स्तर वाली मुद्दे पर हमारी प्राथमिकता होगी. कौन देश की कल्पना को गढ़ सकता है, देश के सपने को कौन पूरा करेगा. लेकिन राज्य स्तर पर विषय बिल्कुल अलग हैं, राज्य स्तर पर हमारे विचार अलग हो सकते हैं.

इसे भी पढ़ें : बीजेपी ने बांटी लोकसभा चुनाव जिताने की जिम्मेदारी, उम्मीदवारों के नाम अबतक क्लियर नहीं

मोदीजी ने देश के मान सम्मान को वैश्विक स्तर पर बढ़ाया : सुदेश

सुदेश महतो ने कहा कि हमें विश्वास है कि राज्य की 3 करोड़ जनता इस लोकतंत्र में सबसे मजबूती से उभरकर आये नेता के पक्ष में रहेगी. नरेंद्र मोदी ने देश के 130 करोड़ जनता और देश के मान सम्मान को वैश्विक स्तर पर बढ़ाया है. अंतराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर की चुनौतियों से इस मजबूत नेतृत्व ने उबारने का काम किया है. हर स्तर पर भारत को वैश्विक स्तर पर सामानांतर रूप से स्थापित करने की तैयारी है. हम उसी को आगे बढ़ाने का संयुक्त प्रयास करेंगे.

इसे भी पढ़ें : जब नेहरू की चिट्ठी दिखा धनबाद से चुनावी नैया पार कर गये थे पीआर चक्रवर्ती

विस चुनाव साथ लड़ने के मुद्दे पर बाद में होगी चर्चा 

सुदेश महतो ने विधानसभा चुनाव एनडीए या फिर अकेले लड़ने के सवाल पर कहा, कि राज्य स्तर पर हमारे विचारों में अंतर हो सकता है. विधानसभा चुनाव साथ लड़ने की बात बाद की है. लोकसभा चुनाव के बाद इसपर बात करेंगे. विधानसभा चुनाव को लेकर गठबंधन के साथ बैठक नहीं हुई है.

हमारे विरोध के बाद सरकार ने बदले  हैं अपने विचार : सुदेश 

सरकार के नीतिगत फैसलों के खिलाफ जमकर हल्ला बोलने वाले मुद्दे पर जब सवाल किया गया तो आजसू सुप्रीमो ने कहा, कि हमने जिन महत्वपूर्ण मुद्दों पर अपने विचार रखे थे. सरकार ने उनसभी मामलों में पुर्नविचार किया है. सीएनटी-एसपीटी मुद्दे पर सरकार ने अपने विचार बदले. जब भी सरकार के नीतियों के खिलाफ हमने विचार रखे. दल और सरकार के हमारे लोगों ने आपस में मिलकर बात की और अपने विचार बदले.

इसे भी पढ़ें : लोकसभा चुनाव में दो सीटें मुस्लिम उम्मीदवारों को मिलें: एस अली

भाजपा के नेता के पास नहीं था जवाब

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ से जब पूछा गया कि जब आजसू चुनावी मैदान से स्थानीय नीति, ओबीसी आरक्षण, एक जाति को एसटी में शामिल करने की बात चुनावी मैदान से करेगी, तो क्या भाजपा चुपचाप सुनेगी. इस सवाल के जवाब में प्रदेश अध्यक्ष ने सिर्फ इतना ही कहा, कि हम साथ हैं, एनडीए एक साथ है. एक अन्य सवाल गिरिडीह लोकसभा में वर्तमान सांसद और पार्टी के जिलास्तर के नाराज पदाधिकारियों को कैसे मनायेंगे,अध्यक्ष ने जवाब दिया कि कोई नाराज ही नहीं है. जबकि रविंद्र पांडे अपने टिकट कटने से खासे नाराज चल रहे हैं और लगातार अपनी प्रतिक्रिया भी खुलकर मीडिया के सामने रख रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : दिल्ली में सुलझी महागठबंधन की गांठ, सभी मुद्दों पर बनी सहमति

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: