Khas-KhabarRanchi

40.19 लाख खर्च कर वन विभाग तैयार करेगा एक लाख बांस के पौधे

Ranchi: वन विभाग राष्ट्रीय बांस मिशन के तहत 40 लाख 19 हजार 261 रुपये खर्च कर एक लाख बांस के पौधे तैयार करेगा. बांस के पौधे तैयार करने के लिये विभिन्न सामग्री पर 34 लाख 8 हजार 7 रुपये खर्च किये जायेंगे. इसके लिये आधुनिक पौधशाला का क्षेत्रफल दो हेक्टेयर का होगा. प्रधान मुख्य वन संरक्षक (विकास) के द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि प्रति मानव दिवस 237.38 रुपये का भुगतान किया जायेगा.

इसे भी पढ़ेंःअडाणी के लिए घोषित हुआ गोड्डा में SEZ, सरकार के लिए राज्यहित से बड़ा कॉरपोरेट हित- प्रदीप यादव

एक लाख बांस के पौधे तैयार करने में मजदूरी खर्च 6.11 लाख रुपये

एक लाख बांस के पौधे तैयार करने में मजदूरी पर 6.11 लाख रुपये खर्च होगा. इसके तहत स्थल की सफाई, 235 आयरन एंगल पोस्ट की ग्राउंटिंग के लिये पीसीसी की ढलाई, सिंचाई पाइप की स्थापना, बीज उपचार टैंक का निर्माण, ग्रीन नेट शेड में सूक्ष्म सिंचाई की व्यवस्था, कार्यालय और प्रयोगशाला निर्माण सहित अन्य कार्य कराये जायेंगे.

advt

जैविक खाद पर 1.31 लाख रुपये का खर्च

बांस के पौधे तैयार करने में जैविक खाद तैयारी स्थल, चौपिंग एंड मिक्सिंग मशीन पर 45116,60 रुपये खर्च किये जायेंगे. वहीं जैविक खाद पॉटिंग मिश्रण, रूट ट्रेनर के लिये स्टोरेज शेड निर्माण पर 86 हजार 111 रुपये खर्च किये जायेंगे. इस तरह से कुल 1 लाख 31 हजार 228 रुपये खर्च किये जायेंगे.

इसे भी पढ़ेंःअडाणी को लाभ पहुंचाने के लिए एक खास क्षेत्र को स्पेशल इकोनामिक जोन घोषित कर दिया

डीप बोरिंग और जेनरेटर की खरीदारी भी

बांस के पौधे उगाने के लिये वन विभाग डीप बोरिंग भी करायेगा. इस पर 1लाख 53 हजार 811 रुपये खर्च करेगा. इसके अलावा पंप हाउस व जेनरेटर रुम के निर्माण पर 1लाख 73 हजार 590 रुपये खर्च किये जायेंगे. समर्सिबल पंप और जेनरेटर की खरीदारी पर 2लाख 30 हजार 722 रुपये खर्च किये जायेंगे.

राज्य गठन से अबतक 45 करोड़ पौधा लगाने का दावा

वन विभाग ने राज्य गठन से अबतक 45 करोड़ पौधा लगाने का दावा किया है. वहीं हर साल मजदूरी सहित अन्य चीजों को जोड़कर पौधारोपण पर लगभग 75 करोड़ रुपये खर्च किये जाते हैं. पौधारोपण के तहत लगाये जाने वाले छोटे पौधों की कीमत तीन रुपये और तीन से चार-फीट तक के पौधों की कीमत 15 रुपये प्रति पौधा है.

adv

इसे भी पढ़ेंःझारखंड पुलिस का दावा बचे हैं सिर्फ 550 माओवादी, लेकिन उनसे लड़ने में लगी है CRPF की 122, IRB की 5 और JJ की 40 कंपनी

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button