JharkhandKhas-KhabarRanchi

रेलवे, फोर लेन सड़क व ट्रांसमिशन लाइन के लिए वन विभाग ने 248.44 एकड़ जमीन का किया हस्तांतरण

Ranchi : वन विभाग ने फरवरी से मार्च तक में तीन बड़ी परियोजनाओं के लिए 248.44 एकड़ वन भूमि का हस्तांतरण किया है. इसमें एनटीपीसी को पकरी बरवाडीह से चट्टी बरियातू तक 200 केवी ट्रांसमिशन लाइन के लिए 114.28 एकड़ वन भूमि हस्तांतरित की गई है.

वन भूमि हस्तांतरण का आदेश 27 फरवरी को जारी कर दिया. वहीं पूर्व मध्य रेलवे को जारनडीह से दनिया और दनिया से रांची रोड रेल खंड के दोहरीकरण के लिए 112.67 एकड़ वन भूमि हस्तांतरित कर दी गई है. इसका आदेश 13 मार्च को जारी किया गया.

वहीं एनएच(राष्ट्रीय राजमार्ग) 32 राजरंज से बंगाल सीमा तक सड़क चौड़ीकरण(फोर लेन) के लिये 22.144 एकड़ वन भूमि हस्तांतरित कर दी गई है.

प्रोजेक्टों के लिये फॉरेस्ट क्लीयरेंस है बड़ी बाधा

प्रोजेक्टों के लिये अब भी फॉरेस्ट क्लीयरेंस बड़ी बाधा बनी हुई है. विभिन्न परियोनाओं के निर्माण के लिए पिछले चार साल में लगभग 59 हजार एकड़ वन भूमि का फॉरेस्ट क्लीयरेंस नहीं हो पाया है. झारखंड के जंगल की जमीन विकास योजनाओं के लिए निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के प्रोजेक्टों के लिए दी गई. लेकिन निजी और सरकारी उपक्रमों की उदासीनता और शर्तों के अनुपालन नहीं होने के कारण फॉरेस्ट क्लीयरेंस का पेंच अब तक फंसा हुआ है.

अधिकांश वन भूमि पर क्लीयरेंस के लिए वन मंत्रालय ने आपत्ति भी जताई है. साथ ही वन विभाग को रिमांडर भी भेजा है. वर्तमान में वन एवं पर्यावरण मंत्रालय ने मौजूदा मूल्य प्रति हेक्टेयर 6.20 से 9.80 लाख रुपये तय की है.

अब तक कितनी फॉरेस्ट की जमीन परियोजनाओं के लिए दी गई

  • सिंचाई व पेयजल परियोजना – 12355.27 एकड़
  • सड़क निर्माण – 617.76 एकड़
  • ट्रांसमिशन लाइन – 1062.55 एकड़
  • रेलवे – 2718.15 एकड़
  • खनन – 17297.38 एकड़
  • पावर प्रोजेक्ट – 4942.10 एकड़
  • निजी कंपनी – 7413 एकड़

किस परियोजना में कितनी जमीन पर फॉरेस्ट क्लीयरेंस का पेंच

  • खनन क्षेत्र – 19516.35 एकड़
  • ट्रांसमिशन – 4018.07 एकड़
  • सड़क – 4883.24 एकड़
  • पावर प्रोजेक्ट – 9735.49 एकड़
  • निजी कंपनी – 16411.77 एकड़
  • पन बिजली परियोजना – 4106.22 एकड़
  • आयडा – 276.98 एकड़
  • पेयजल – 30.27 एकड़
Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: