Khas-KhabarNational

LAC विवाद पर बोले विदेश मंत्रीः भारत- चीन के रिश्ते महत्वपूर्ण, दोनों के लिए आपसी समझ बनाना जरूरी

29-30 अगस्त की रात पैंगौंग झील इलाके में चीनी घुसपैठ को भारतीय सैनिकों ने किया विफल

New Delhi: भारत औऱ चीन के बीच रिश्तों में तल्खी जारी है. पैंगौंग झील पर चीन की हिमाकत के बाद ये तनाव और बढ़ गया है. वहीं भारत-चीन के बिगड़ते रिश्ते के बीच विदेश मंत्री एस जयशंकर ने सोमवार को कहा कि भारत और चीन के रिश्ते दोनों देशों तथा दुनिया के लिए काफी अहम हैं. इसलिए दोनों पक्षों के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वे किसी समझ या संतुलन पर पहुंचे.

अमेरिका-भारत रणनीतिक साझेदारी मंच के संवाद सत्र में जयशंकर ने कहा कि दुनिया के हर देश की तरह ही भारत भी चीन के उन्नति से परिचित है लेकिन भारत की तरक्की भी एक वैश्विक गाथा है. विदेश मंत्री डिजिटल कार्यक्रम में चीन के उभार, भारत पर उसके असर के साथ-साथ दोनों देशों के रिश्तों पर पड़े प्रभाव से संबंधित सवालों के जवाब दे रहे थे.

इसे भी पढ़ेंः सूबे में भ्रम फैला रही BJP, हेमंत सरकार हर तरह की व्यवस्था करने में सक्षम: JMM

advt

दोनों देशों के बीच समझ-संतुलन जरूरी

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन की सेनाओं के बीच चार महीने से चल रहे सीमा विवाद की पृष्ठभूमि में जयशंकर की यह टिप्पणी आई है. इस विवाद का असर व्यापार और निवेश समेत सभी रिश्तों पर पड़ा है.

उन्होंने अपनी किताब का हवाला देते हुए कहा, दुनिया के अन्य देशों की तरह, हम भी चीन की उन्नति से परिचित हैं. हम चीन के पड़ोसी हैं. जाहिर है कि अगर आप पड़ोसी हैं तो आप उस उभार से सीधे प्रभावित होंगे जो मैंने अपनी किताब में कहा है.उन्होंने अपनी किताब “द इंडिया वेः स्ट्रेटेजीज फॉर एन अनसर्टेन वर्ल्ड” का जिक्र किया. इस किताब का अभी विमोचन नहीं हुआ है.

विदेश मंत्री ने कहा कि भारत भी आगे बढ़ रहा है लेकिन उसकी रफ्तार चीन जितनी नहीं है. उन्होंने कहा, लेकिन, अगर आप बीते 30 साल देखें तो, भारत की उन्नति भी वैश्विक कहानी है. अगर आपके पास दो देश हैं, दो समाज हैं जिनकी आबादी अरबों में हैं, इतिहास है, संस्कृति है, तो यह अहम है कि उनके बीच किसी तरह की समझ या संतुलन बने. ”

इसे भी पढ़ेंः अब तक 4045 पुलिसकर्मी कोरोना संक्रमित हुए, 9 की हुई मौत

adv

चीनी घुसपैठ को भारतीय जवानों ने किया नाकाम

उल्लेखनीय है कि 29-30 अगस्त की रात लद्दाख में करीब दो सौ चीनी सैनिकों ने भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की कोशिश की, लेकिन भारतीय सेना ने उन्हें खदेड़ डाला. भारत-चीन के बीच ये ताजा झड़प पैंगौंग झील के दक्षिणी किनारे पर स्थित एक चोटी को लेकर हुई, जो एलएसी पर भारतीय सीमा में है. बता दें कि इस चोटी पर दोनों देशों में से किसी का कब्जा नहीं हुआ करता था, सैन्य स्तर की बातचीत में ये बात भी उठी थी, लेकिन इसका समाधान नहीं हो पाया. लेकिन चीन ने अपनी चालबाजी दिखाते हुए इस चोटी पर कब्जा करने की कोशिश की, जिसे भारतीय सैनिकों ने विफल कर दिया.

इसे भी पढ़ेंः झारखंड में रिकॉर्ड 3218 नये कोरोना पॉजिटिव मिले, 7 मौतें हुईं, कुल आंकड़ा 41656

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button