Corona_UpdatesNational

कोरोना संक्रमित रोगियों के इलाज के लिए डॉक्टरों को मानदेय पर रखा जायेगा: देशमुख

Mumbai :  महाराष्ट्र के चिकित्सा शिक्षा मंत्री अमित देशमुख ने रविवार को कहा कि मुंबई में कोविड-19 से संक्रमित मरीजों के उपचार के लिए डॉक्टरों और नर्सों को मानदेय के आधार पर काम पर रखा जाएगा.

उन्होंने एक बयान में कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए यह निर्णय लिया गया है कि शहर में कोविड-19 रोगियों के उपचार के लिए चिकित्सा कर्मचारियों की कोई कमी नहीं है.

इसे भी पढ़ेंः कुछ अलग : लॉकडाउन की वजह से शादियों में बैंड, बाजा, बारात की जगह मास्क, सेनिटाइजर्स और सादगी

देश में सभी शहरों में मुंबई में कोविड-19 के मामलों की संख्या अब तक सबसे अधिक है. शनिवार की रात तक रोगियों की संख्या 38,442 थी जबकि 1,227 मरीजों की मौत हुई थी.

बयान के अनुसार 45 वर्ष से कम आयु के पंजीकृत चिकित्सक, जो किसी भी चिकित्सा बीमारी से पीड़ित नहीं हैं और अपनी ‘इंटर्नशिप’ पूरी कर चुके हैं, उन्हें रोगियों के उपचार के लिए जरूरत के अनुसार काम पर रखा जाएगा.

इसे भी पढ़ेंः #Unlock1 : जानिए क्या-क्या खुलेगा यूपी में, योगी सरकार ने जारी की गाइडलाइंस

बयान में कहा गया है, ‘‘उन्हें 80 हजार रुपये प्रतिमाह दिये जायेंगे. चिकित्सकों के अलावा फिजिशियन को भी मानदेय के आधार पर काम पर रखा जाएगा. एनेस्थेटिस्ट को प्रति माह दो लाख रुपये का भुगतान किया जाएगा. नर्सों को प्रति माह 30,000 रुपये के मानदेय पर काम पर रखा जाएगा.’’

उन्होंने कहा, ‘‘मानदेय का भुगतान बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) द्वारा किया जाएगा. पात्र डॉक्टरों और नर्सों को इसके लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा.’’

इसे भी पढ़ेंः #Unlock1.0 : 1 जून से झारखंड में शुरू नहीं हो पायेगी स्कूलों में पढ़ाई

 

Telegram
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close