JharkhandLead NewsRanchi

झारखंड के 105 नये ITI में ट्रेनिंग के लिए चाहिए 1062 अनुदेशक, मात्र 29 से ही जैसे तैसे चला रहे काम

डायरेक्टर जनरल ऑफ ट्रेनिंग के नियम अनुसार नहीं हैं आईटीआई

Ranchi : क्राफ्ट इंस्ट्रक्टर ट्रेनिंग स्कीम के तहत राज्य में हजारों की संख्या में ऐसे युवा हैं जो आईटीआई में अनुदेशक बनने की योग्यता रखते हैं. लेकिन इनकी नियुक्ति नहीं हो पा रही है. जबकि राज्य सरकार की ओर से संचालित 105 नये आईटीआई में से अधिकांश बिना अनुदेशक संचालित हो रहे हैं. ऐसे आईटीआई डायरेक्टर जनरल ऑफ ट्रेनिंग के नियमों की अनदेखी कर चलाये जा रहे हैं. ऐसा तब हो रहा है जब राज्य सरकार ने वर्तमान वर्ष को नियुक्ति वर्ष घोषित कर रखा है. हजारों प्रशिक्षित युवा नियुक्ति की बाट जोह रहे हैं.

इसे भी पढ़ें : सुरदा कॉपर माइंस में दो सालों से लटका है ताला, 28 मजदूरों ने तंगहाली में गंवायी जान, दीपिका पांडेय ने सीएम से की पहल की अपील

advt

1033 अनुदेशकों की जरूरत

राज्य में 105 नये आईटीआई चल तो रहे हैं, लेकिन इनमें ट्रेनिंग के लिए न विद्यार्थी हैं और न ही अनुदेशक. 105 आईटीआई में जहां 1062 अनुदेशक होने चाहिए वहां केवल 29 ही कार्यरत हैं. स्थिति यह है कि एक अनुदेशक चार से पांच आइटीआइ का प्रभार लेकर उन्हें चला रहे हैं.

यही वजह है कि वे किसी-किसी आइटीआइ में सप्ताह भर भी नहीं जा पाते हैं. इस आइटीआइ से उस आइटीआइ तक दौड़ लगाते रहते हैं. सबसे बड़ी बात है कि उन्हें चार से पांच जगहों का प्रभार तो दे दिया गया, लेकिन उन आइटीआइ में जाने के लिए उन्हें यात्रा भत्ता भी नहीं दिया जा रहा है.

जानकारी के मुताबिक सरकार ने आनन-फानन में सारे आइटीआइ खोले हैं. प्रखंडों में भी आइटीआइ खोल दिये गये हैं. जहां सरकारी बिल्डिंग नहीं मिली, वहां किराये के मकान में आइटीआइ खोल दिया गया. इन आइटीआइ में ट्रेनिंग के लिए पर्याप्त मशीनों की भी व्यवस्था नहीं की गयी, अगर विद्यार्थियों की दाखिला लिया जाये, तो उन्हें ट्रेनिंग कैसे दी जायेगी, यह भी तय नहीं है.

इसे भी पढ़ें : कपाली हासाडुंगरी में पत्थर से कूचकर महिला की हत्या

नियमों के अनुसार नहीं हैं आईटीआई

नये आइटीआइ प्रावधान के अनुकूल नहीं हैं. सारे आइटीआइ डीजीटी के नियम से चलते हैं, लेकिन यहां डीजीटी के किसी भी नियम व प्रावधान का पालन नहीं हो रहा है. अगर भवन डीजीटी के प्रावधान के मुताबिक बने है, तो वहां पर पीपीपी मोड में चलाने के लिए आइटीआइ दे दिया गया है. कहीं प्रशिक्षण लैब नहीं हैं तो कहीं ट्रेनर का अभाव है.

 

Nayika

advt

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: