JharkhandLead NewsRanchi

झारखंड के कारखानों में कार्यरत महिलाओं की सुरक्षा के लिए अब रखना होगा कम से कम एक महिला संरक्षक

  • एक बैच में कम से कम पांच महिलाएं रहेंगी
  • श्रम विभाग ने पूर्व की अधिसूचना में संशोधन कर किया प्रावधान

Ranchi : झारखंड के कारखानों में नियोजित महिलाओं की सुरक्षा के लिए अब कम से कम एक महिला संरक्षक (फिमेल वार्डन ) की नियुक्ति करने को अनिवार्य कर दिया गया है. नियोजक को इस प्रावधान का अब विशेष ध्यान रखना होगा. दखलकार को इनकी नियुक्ति करनी होगी. ये महिला वार्डन कार्य के दौरान परिभ्रमण तथा विशेष कल्याण सहायक के रूप में कार्य करेगी. इस संबंध में श्रम, नियोजन, प्रशिक्षण एवं कौशल विकास विभाग ने अधिसूचना जारी कर दी है. विभाग ने 3 फरवरी 2017 की अधिसूचना में संशोधन किया है.

इसे भी पढे़ें:26 फरवरी को जूनियर राष्ट्रीय महिला हॉकी चैंपियनशिप के लिए हॉकी झारखंड का ट्रायल, 27 को पुरुष हॉकी टीम का सेलेक्शन

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसके तहत उक्त अवधि में पर्यवेक्षक या शिफ्ट इंचार्ज या फोरमेन या अन्य पर्यवेक्षी कर्मचारी सुपरवाइजरी स्टॉफ में महिलाओं की संख्या पांचवां हिस्सा अथवा दो (जो अधिक हो) व होना जरूरी किया गया है.

The Royal’s
Sanjeevani

जारी अधिसूचना के अनुसार दखलकार यह भी देखेंगे कि नियोजित महिलाओं के एक बैच में 05 से कम संख्या में नियोजित न हो तथा उपरोक्त अवधि में कारखानों में कुल नियोजित महिलाओं कुल न्यूनतम संख्या पांच हो. विभाग ने इस संशोधन के साथ ही पूर्व की अधिसूचना के बाकी प्रावधान को बनाये रखा है.

इसे भी पढे़ें:रांची : डोरंडा में बनेगा अर्बन हेल्थ सेंटर का नया भवन, एक छत के नीचे होंगी सारी सुविधाएं

Related Articles

Back to top button