Jamtara

उमंग परियोजना की किशोरियां फुटबॉल खेल से बना रहीं पहचान

Jamtara: अब गांव की लड़कियां भी खेल में बढ़ चढ़ कर भाग ले रही हैं. बदलाव फाउंडेशन द्वारा संचालित उमंग परियोजना की किशोरियां समूह बनाकर फुटबाल खेल में भाग ले रही हैं.

जिले के नाला प्रखंड के बाघमारा में अष्टमंगला पूजा के शुभ अवसर पर उमंग किशोरी समूह का फुटबॉल टूर्नामेंट का आयोजन किया गया. इस टूर्नामेंट का आयोजन प्रत्येक वर्ष टाइगर क्लब, बाघमारा द्वारा संचालित किया जाता है. टूर्नामेंट में पुरुष वर्ग के साथ-साथ उमंग किशोरी समूहों ने भी हिस्सा लिया. किशोरी समूह में मैच के विजेता बाघमारा की बहा किशोरी समूह व उप विजेता जसपुर की सरस्वती किशोरी समूह रही.

बता दें कि पहले गांव में लड़कों की टीम द्वारा ही फुटबॉल खेला जाता था. लेकिन इस मान्यता को ICRW व बदलाव फाउंडेशन द्वारा संचालित उमंग परियोजना से दूर किया गया. उमंग परियोजना की किशोरियों ने फुटबॉल टूर्नामेंट में सामाजिक बंधनों को तोड़ते हुए अपनी भागीदारी सुनिश्चित करना शुरु की.

इसे भी पढ़ें- गिरिडीह : शराबी बेटे ने मांगी प्रॉपर्टी, पिता ने बाद में बात करने को कहा, तो कर दी हत्या

पिछले साल उमंग परियोजना की 2 किशोरी समूह ने टूर्नामेंट में भाग लिया था, जबकि इस वर्ष कुल 6 टीम रंगाशोला, हिजलजुड़ि, जबरदहा, बदुरमरा, जसपुर, पंचमोहलि टीम ने टूर्नामेंट में भाग लिया.

बता दें कि सामाजिक संस्था बदलाव फाउंडेशन की उमंग परियोजना ने क्षेत्र की 9 हजार किशोरियों को फुटबॉल खेल से जोड़ने का काम किया है. खेल को बढ़ावा देने के लिए 337 किशोरी समूहों को पिछले वर्ष 2020 में एक-एक फुटबाल वितरित किया गया था. खेल से जोड़ने का मुख्य उद्देश्य यह भी रहा है कि सामाजिक बंधनों को खेल द्वारा ही दूर किया जा सके.

आज के टूर्नामेंट में मुख्य अतिथि के रूप में जिला परिषद प्रतिनिधि नित्यानंद सिंह, मुखिया प्रतिनिधि सोनामती हंसदा, साथ ही उमंग परियोजना के परियोजना समन्वयक दिनेश यादव, प्रखण्ड समन्वयक राम रूप सिंह, फैसिलिटेटर सावित्री सोरेन, सामाजिक कार्यकर्ता शराफ़त अंसारी, क्लब के मास्टर एलबी नाथ, विजय मुर्मू , बासुदेव मुर्मू, आकाश हांसदा उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें- डेढ़ माह पहले दफनाये गये नाबालिग लड़की के शव को कब्र से निकाला गया, जानिए क्यों

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: