न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

नवंबर में होनेवाले फूड समिट के लिए फिर इवेंट पार्टनर खोज रही सरकार, बढ़ाई 10 दिन की मोहलत, किया री-टेंडर

पार्टनर की खोज के लिए निकाली गयी निविदा में सिर्फ FICCI ने ही दिया था आवेदन

128

Ranchi : झारखंड सरकार ने नवंबर 2018 में दो दिवसीय फूड समिट आयोजित करने का फैसला लिया है. इसके लिए इवेंट पार्टनर की खोज की जा रही है. इवेंट पार्टनर के लिए कृषि विभाग और उद्योग विभाग की तरफ से निकाली गयी निविदा में सिर्फ फिक्की ने ही अपना आवेदन दिया. निविदा समिति ने एकल आवेदन को देखते हुए टेंडर की तारीख 24 सितंबर तक बढ़ा दी है.

इसे भी पढ़ें- UPA शासनकाल में PM के PS रहे सीनियर IAS का भी झारखंड से मोह भंग

सिंगल आवेदक कंपनी को नहीं दिया जा सकता है काम

hosp3

कृषि निदेशक रमेश घोलप ने बताया कि निविदा की शर्तोें के आधार पर सिंगल आवेदक कंपनी को काम नहीं दिया जा सकता है. इसलिए टेंडर की तिथि बढ़ा दी गयी है. उन्होंने बताया कि कुछ और कंपनियों ने इवेंट पार्टनर बनने के लिए अपनी दिलचस्पी दिखायी है. अब 24 के बाद ही पता चलेगा कि कौन झारखंड के फूड समिट का पार्टनर बन पायेगा. गौरतलब है कि सरकार के मोमेंटम झारखंड समिट में सीआईआई इवेंट पार्टनर था. यह समिट खेलगांव परिसर में इस वर्ष के शुरुआत में आयोजित की गयी थी. जिसमें बड़े उद्योगपतियों का रेड कारपेट वेलकम किया गया था. इस आयोजन के इवेंट पार्टनर के बकाये का भुगतान नहीं होने से भी स्थिति गड़बड़ हो गयी है. सीआईआई और उद्योग विभाग के बीच भुगतान को लेकर तनातनी बनी हुई है.

इसे भी पढ़ें- सांसद रामटहल चौधरी पर ST/SC अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज

29 और 30 नवंबर को होगा समिट

कृषि निदेशक श्री घोलप ने न्यूज विंग से बातचीत के क्रम में बताया कि खेलगांव परसिर में कृषि को लेकर व्यापक आयोजन किया जायेगा. पहली बार कृषि के क्षेत्र में हो रहे आधुनिकीकरण और नयी तकनीक से झारखंड के किसानों को अवगत कराया जायेगा. इसमें कृषि उपकरण, कृषि की पैदावार बढ़ाने, बहुफसलीय उत्पादन, कृषि आधारित फूड प्रसंस्करण उद्योग को बढ़ावा दिये जाने और अन्य मसलों से संबंधित छह सेक्टरों पर किसानों और उद्योगपतियों के बीच सीधा इंटरैक्शन किया जायेगा. सभी जिलों के कृषि उत्पादन पर आधारित स्टॉल भी मेले में लगाये जायेंगे. इस मेले में 10 हजार से अधिक किसान हिस्सा लेंगे. मेले को लेकर देश-विदेश की नामी-गिरामी कंपनियों को भी न्योता गया है. सरकार ने हाल ही में राज्य के किसानों को इजरायल भेजा था, जहां पर कृषि की नयी तकनीक की जानकारी किसानों को दी गयी थी.

इसे भी पढ़ें- NEWSWING IMPACT : शौचालय निर्माण घोटाले पर सीएम सचिवालय ने मांगी लाभुकों की लिस्ट

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: