न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

फूड जतरा : आदिवासी खानपान के साथ पारंपरिक परिधान व वाद्ययंत्रों का किया गया प्रदर्शन

863

Ranchi : संगम गार्डेन मोरहाबादी में रविवार को फूड जतरा का आयोजन किया गया. इसमें आदिवासी खान-पान का प्रदर्शनी लगायी गयी व एवं आदिवासी पारम्पारिक परिधान व वाद्य यंत्रों का भी प्रदर्शन किया गया.

आदिवासी खान-पान बनाने वाले दो रेस्टोरेंट के सेफ आजम एम्बा एवं सिली सीजन हैं. आयोजक ‘प्रयास हमारा’ के अध्यक्ष सजित टोप्पो ने कहा कि ये कार्यक्रम हमारे आदिवासी पारंपरिक खान पान जो कि आदिवासी की पहचान है, उसे बढ़ावा देने तथा आदिवासी समाज के लोगों को समाज के विकास के लिए आगे आने के लिए प्रेरित करने के मकसद से आयोजित किया गया.

Sport House

इसे भी पढ़ें : #JharkhandElection: विपक्षी दलों पर मनोवैज्ञानिक दबाव बना आसान जीत तलाश रही बीजेपी

हीन भावना ना रखें

केंद्रीय आदिवासी मोर्चा के सचिव विकास तिर्की ने कहा कि वर्तमान पीढ़ी के लोग हमारे पारम्पारिक खान-पान को छोड़ते जा रहे हैं. आने वाले पीढ़ी अपने पारंपरिक खान-पान को जाने एवं उससे हीनभावना ना रखे.

उन्होंने कहा कि जो हमारे आदिवासी परमपरिक भोजन है वो सेहत के लिए काफी फायदेमंद होते हैं. इसलिए आज के लोगों का ध्यान आकर्षित करने हेतु ऐसा कार्यक्रम किया गया है. झारखण्ड आदिवासी बहुल इलाका है पर दिन ब दिन ये व्यंजन विलुप्त होते जा रहे हैं.

Mayfair 2-1-2020

इसे भी पढ़ें : रांची: प्रतिबंधित संगठन #Al-Qaeda का मोस्ट वांटेड आतंकी कलीमउद्दीन गिरफ्तार, DGP ने टीम को दी बधाई

हानिकारक फास्ट फूड छोड़ें

मौके पर शशिकांत होरो ने कहा कि युवाओं को हानिकारक फ़ास्ट फ़ूड से वापस अपने पारम्परिक भोजन की ओर लाने का प्रयास है.

अटेलिएर झारखण्ड के रॉबर्ट एक्का ने कहा ये जो प्रयास हमलोगों ने किया, वो काफी हद तक सफल हुआ. उसी का परिणाम है कि आज इतना बड़ा आयोजन किया गया एवं रांची में आजम एम्बा जैसा बड़ा आदिवासी रेस्टोरेंट खुला. आयोजन में मुख्य रूप से हेनरी एक्का, गॉडविन लकड़ा, वंदना केस्पोट्टा का महत्वपूर्ण योगदान रहा.

इसे भी पढ़ें : #RSS प्रचारक ने कड़िया मुंडा को लिखा #letter, जतायी आशंका-‘आंतरिक अलगाववाद के नये केंद्र हो सकते हैं जनजातीय क्षेत्र’

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like