Lead NewsNationalNEWS

नहीं रहे फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह, 91 साल की उम्र में कोरोना से निधन, पीएम मोदी ने जताया शोक

New Delhi : वो खूब दौड़े, लेकिन कोरोना के खिलाफ़ ज़िंदगी की दौड़ आखिरकार हार गए. फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह शुक्रवार देर रात पीजीआई चंडीगढ़ में जीवन की अंतिम उड़ान भर अपने चाहनेवालों को सदा के लिए छोड़ गए.

इसे भी पढ़ें : अडानी ने चार दिन में गंवाये 1 लाख करोड़ से अधिक, अमीरों की लिस्ट में भी नीचे खिसके

कोरोना संक्रमित होने के बाद करीब एक महीने से जूझ रहे पूर्व ओलंपियन पद्मश्री मिल्खा सिंह (91) का निधन शुक्रवार की देर रात चंडीगढ़ के पीजीआई अस्पताल में निधन हो गया. फ्लाइंग सिख के नाम से दुनिया भर में मशहूर मिल्खा सिंह 19 मई को कोरोना संक्रमित मिले थे. इसके बाद फोर्टिस मोहाली में भर्ती रहे. बाद में परिजनों के आग्रह पर अस्पताल से छुट्टी लेकर सेक्टर-8 स्थित आवास पर ही इलाज करा रहे थे.

इसे भी पढ़ें : बिन ब्याही मां बनी युवती और उसके बच्चे को जान से मारने की कोशिश, पुलिस ने शिकायत लेने से किया इंकार

बीते तीन जून को हालत बिगड़ने पर उन्हें पीजीआई में भर्ती कराया गया था. बीते बुधवार को उनकी कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई थी लेकिन संक्रमण के कारण वह बेहद कमजोर हो गए थे. शुक्रवार दोपहर अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई. बुखार के साथ उनका ऑक्सीजन स्तर नीचे गिरने लगा. पीजीआई के डॉक्टरों की सीनियर टीम उन पर नजर बनाए हुए थी, लेकिन देर रात उनकी हालत बिगड़ गई और 18 जून की रात 11.40 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली. उनके निधन के साथ भारतीय खेल के एक युग का अंत हो गया. इस दुखद सूचना से देश और दुनिया के खेल प्रेमियों में शोक की लहर फैल गई.

 

पांच दिन पहले हुई थी पत्नी की मौत

मिल्खा सिंह के साथ उनकी पत्नी निर्मल कौर भी कोरोना संक्रमित हो गईं थीं. हालत गंभीर होने पर उन्हें मोहाली के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उनकी भी हालत कई दिनों तक स्थिर बनी हुई थी लेकिन 13 जून की शाम को उनका निधन हो गया. पत्नी की मौत के बाद परिजनों को लगने लगा था कि वे ज्यादा दिन तक जी नहीं पाएंगे, इसलिए पत्नी के निधन की खबर मिल्खा सिंह से छिपाकर रखी गई थी. परिजनों ने बताया कि दो दिन से मिल्खा सिंह पत्नी निम्मी से बात करने की जिद कर रहे थे. उन्होंने यह भी कहा था कि उनके सपने में निम्मी आ रही हैं और वे इस दुनिया से चलीं गईं हैं. बता दें कि निर्मल कौर भारतीय वॉलीबाल टीम की पूर्व कप्तान थीं. साथ ही वह चंडीगढ़ के खेल निदेशक के पद पर भी रही थीं. मिल्खा सिंह के परिवार में उनकी तीन बेटियां व एक बेटा जीव मिल्खा सिंह हैं. जीव अंतरराष्ट्रीय स्तर के गोल्फर हैं

 

पीएम समेत कई हस्तियों ने जताया दुख

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उनके निधन पर दुःख व्यक्त करते हुए कहा है ”हमने एक महान खिलाड़ी खो दिया है.” रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट कर मिल्खा सिंह के निधन पर शोक प्रकट किया है. उन्होंने लिखा है, ”मिल्खा सिंह एक बेहतरीन एथलीट और स्पोर्टिंग लेजेंड थे. उन्होंने अपनी उपलब्धियों से देश को गौरवंतित महसूस कराया था.वह एक शानदार व्यक्ति थे, अपनी अंतिम सांस तक उन्होंने खेल के क्षेत्र में अपना योगदान दिया. उनके निधन की खबर से मैं दुखी हूं. उनके परिवार और प्रशंसकों को संवेदनाएं. ओम शांति.’

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: