BiharLead News

पटना में मंडराया बाढ़ का खतरा, कई नदियां लाल निशान के ऊपर

Patna : बिहार में बाढ़ (Flood) से हालात लगातार भयावह होते जा रहे हैं. भारी बारिश के कारण कई नदियां उफान पर हैं तो कई नदियों का जलस्तर बढ़ जाने के कारण गांव के गांव पानी में समा गये. बिहार के कई जिले बाढ़ के पानी से जलमग्न हो गये हैं. बिहार में 10 नदियां लाल निशान से ऊपर बह रही हैं. दरधा नदी उफना गयी है. वहीं कई जगह पर तटबंध टूट गया है जिससे आधा धनरूआ पानी में डूब गया.

बता दें कि पड़ोसी राज्यों में हो रही भारी बारिश से बिहार में पानी लगातार बढ़ रहा है जिससे तटबंध पर दबाव बढ़ गया है. पानी का जलस्तर बढ़ने के कारण 24 घंटे में सोन नदी में 12 गुना पानी हो गया है. जबकि गंगा में दोगुना पानी बढ़ गया. यही स्थिति रही तो अगले कुछ दिनों में पटना में गंगा नदी खतरे के निशान से ऊपर हो जायेगी.

इसे भी पढ़ें :राज्यभर में इंटर के रिजल्ट को लेकर फूटा गुस्सा, JAC से छात्रों ने मांगा इंसाफ

जिससे पटना में बाढ़ के हालात बनते नज़र आ रहे हैं. मौसम विभाग ने पटना सहित 19 जिलों में ग्रीन अलर्ट जारी किया है. बंगाल की खाड़ी की तरफ से पश्चिम की ओर बढ़ने वाले निम्न हवा के दबाव और बिहार झारखंड से होते हुए पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपरी हिस्से पर बने साइक्लोन सर्किल के प्रभाव से पटना सहित 19 जिलों में 3 से 11 एमएम तक बारिश होने के आसार हैं.

advt

इसे भी पढ़ें :RANCHI : पांडुडीह में स्वर्ण रेखा नदी में बह गया 22 वर्षीय युवक

पटना जिले के धनरूआ की बात करें तो इस प्रखंड में कररुआ, महतमाइन के बाद दरधा नदी में आयी उफान से रविवार को आधा दर्जन धनरूआ बाढ़ के पानी में डूब गया. वहीं आधा दर्जन तटबंध के टूटने से कई जगह पर पानी ओवरफ्लो हो रहा है जिससे जनजीवन पूरी तरह से प्रभावित हो गया.

दर्जनों गांव में पानी घुस गया है जिससे 25 सौ एकड़ में लगी धान की फसल भी डूब गयी है. वहीं फतुहा में भूतही व महतमाईन नदियों का पानी गांव में घुस गया है. वहीं दनियांवा में भी NH 30 पर पानी आ गया है.

इसे भी पढ़ें :RANCHI : एकलव्य अपार्टमेंट और कुंज विहार में कीचड़ और पानी से लोग परेशान

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: