Bihar

बिहार में बाढ़ का कहरः 11 जिलों की 24.42 लाख आबादी प्रभावित, कई नदियां उफान पर

उत्तर बिहार के कई इलाकों में एक अगस्त तक भारी बारिश का पूर्वानुमान

विज्ञापन

Patna: बिहार दोहरी आपदा से बेहाल है. एक ओर कोरोना का बढ़ता संक्रमण, दूसरी तरफ बाढ़ का कहर. राज्य के 11 जिलों की 24.42 लाख आबादी बाढ से प्रभावित हैं. इसके साथ ही 1,67,005 लोगों को सुरक्षित ठिकानों तक पहुंचाया गया है. वहीं भारतीय मौसम विभाग ने राज्य के कई इलाकों में भारी बारिश होने की आशंका जताई है. ऐसे में बिहारवासियों की मुसीबत और बढ़ सकती है.

इसे भी पढ़ेंःबिहार के समस्तीपुर में नाव दुर्घटना: बिजली के तार से चिपके 6 लोग, कई पानी में बहे

advt

11 जिलों में बाढ़ का कहर

आपदा प्रबंधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक प्रदेश के 11 जिलों सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, पूर्वी चम्पारण, पश्चिम चंपारण, खगडिया एवं सारण जिले के 93 प्रखंडों के 765 पंचायतों की 24,42,725 आबादी बाढ से प्रभावित हैं. बाढ के कारण विस्थापित लोगों को भोजन कराने के लिए 703 सामूदायिक रसोई की व्यवस्था की गयी है.

दरभंगा जिला में सबसे अधिक 14 प्रखंडों के 154 पंचायतों की 887702 आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई है. बिहार के बाढ़ प्रभावित इन जिलों में बचाव और राहत कार्य चलाए जाने के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की कुल 25 टीमों की तैनाती की गयी है.

राज्य की कई नदियां उफान पर

इस बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव को निर्देश देते हुए कहा है कि बाढ़ प्रभावित जिलों में बाहर लाये जा रहे लोगों को अच्छे राहत शिविरों में बेहतर व्यवस्था के साथ रखा जाये. जल संसाधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, बागमती नदी सीतामढी, मुजफ्फरपुर एवं दरभंगा में, बूढी गंडक नदी मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर एवं खगड़िया में, कमला बलान नदी मधुबनी में, लालबकिया नदी पूर्वी चंपारण में, गंगा नदी भागलपुर में, अधवारा नदी सीतामढी में और खिरोई नदी दरभंगा में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. जल संसाधन विभाग के अनुसार, सभी बाढ़ सुरक्षात्मक तटबंध सुरक्षित हैं.

adv

इसे भी पढ़ेंः24 घंटे में देश में Corona के 47 हजार से अधिक नये केस, 15 लाख के करीब पहुंचा आंकड़ा

भारी बारिश के आसार

पहले से बाढ़ की त्रासदू झेल रहे बिहारवासियों की मुसीबत और बढ़ सकती है. दरअसल, बिहार और नेपाल के जलग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश की आशंका है. भारतीय मौसम विभाग के अनुसार, उत्तर बिहार और नेपाल के कई इलाकों में एक अगस्त तक भारी बारिश होने की संभावना है.

अगर मौसम विभाग का पूर्वानुमान सही होता है कि राज्य में गोपालगंज से लेकर कटिहार तक संकट बढ़ेगा. पहले से ही लाखों की आबादी बाढ़ से बेहाल है, ऐसे में मुसीबत और बढ़ेगी. उत्तर बिहार में पहले से ही 15 जिलों के 24 रेनगेज स्थलों पर सात नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं. और इन नदियों में करीब दो दर्जन तटबंध पर पहले से ही भारी दवाब है.

इसे भी पढ़ेंःबिहार: Corona के 41,111 केस, बढ़ते मामलों के बीच स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव का एकबार फिर तबादला

 

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close